भारत हर क्षेत्र में म्यांमार को समर्थन करेगा-मोदी

नई दिल्ली (29 अगस्त): दशकों के सैन्य शासन के बाद म्यांमार के एक नई राह पर कदम बढ़ाने के बीच भारत ने अपने इस पड़ोसी देश के सफर के ‘हर कदम’ पर तहेदिल से उसका समर्थन करने का वादा किया। दोनों देशों ने अपने संबंधों को गहरा बनाने और क्षेत्र में आतंकवादी एवं उग्रवादी गतिविधियों से मुकाबले में सक्रिय रूप से सहयोग करने का इरादा जाहिर किया। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आंग सान सू की की पार्टी नेशनल लीग फॉर डेमोक्रेसी एनएलडी की नई सरकार से किए जा रहे पहले शीर्ष-स्तरीय संवाद के दौरान म्यांमार के राष्ट्रपति यू तिन क्यॉव से गहन वार्ता की और म्यांमार की आंतरिक शांति प्रक्रिया के प्रति भारत का पूरा समर्थन जाहिर किया। 

दोनों देशों ने संपर्क, औषधि एवं अक्षय उर्जा के अलावा कृषि, बैंकिंग और बिजली सहित कई अन्य क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने के लिए चार सहमति-पत्रों पर हस्ताक्षर किए।  मीडिया के लिए जारी बयान को पढ़ते हुए मोदी ने बाद में कहा कि दोनों पक्षों ने माना है कि एक-दूसरे के सुरक्षा हित करीबी तौर पर जुड़े हुए हैं और दोनों देश क्षेत्र में आतंकवादी एवं उग्रवादी गतिविधियों से मुकाबले के लिए मिलकर काम करने पर सहमत हुए ।