खबरदारः बाजार में बिक रहे हैं कैमिकल से बने आर्टिफीशियल चीनी अण्डे

नई दिल्ली (13 अक्टूबर): चीन में कैमिकल से बना आर्टिफीशियल अण्डे भारतीय बाजार में पहुंचने से सरकार की नींद उड़ गयी है। सरकार ने तत्काल जांच बैठा दी है और पता लगाने को कहा है कि ये आर्टिफीशियल चीनी अण्डा भारत कैसे पहुंचा। चीन में बना यह कृत्रिम अण्डा फिल्हाल केरल के बाजार में देखा गया है।  - खाद्य सुरक्षा अधिकारियों के मुताबिक मुर्गी का अंडा प्रोटीन और अन्य पोषक तत्वों के चलते शरीर के लिए लाभदायक होता है।

- लेकिन नकली अंडा केवल रासायनिक पदार्थो से तैयार होता है जिससे शरीर को फायदा नहीं होता।

- कैमिकल से बने अण्डे खाने से  नुकसान कितना होता है-इसकी पूरी परख के बाद ही जानकारी मिलेगी।

- कैल्सियम कार्बोनेट से तैयार बाहरी खोल के भीतर सोडियम एलिग्नेट, एलम, जिलेटिन और कैल्सियम क्लोराइड भरकर कृत्रिम अंडा तैयार किया जाता है।

- नकली अंडे का बाहरी सतह थोड़ी खुरदुरी होती है जबकि असली अंडा चिकना होता है।

- उबालने के बाद कैल्सियम कार्बोनेट का कवर तोड़ने पर प्राप्त होने वाला नकली अंडा असली की तुलना में कड़ा होता है।

- भीतर की पीली जर्दी रबर की गेंद की मानिंद हो जाती है और थोड़ी ऊंचाई से छोड़ने पर गेंद जैसी उछलती भी है। यह चाकू से ही से ही कटती है।