ये है MP का माउंटेन मैन, 80 की उम्र में बना डाली सड़क

मनोज देशमुख, बैतूल (30 अक्टूबर): कहते है पंखो से नहीं हौसलों से उड़ान भरी जाती है। ऐसी ही एक दास्तां 80 वर्षीय बुजुर्ग की है, जिसने अपने होसलों को इतना मजबूत किया कि उसके आगे उम्र की रूकावट भी आड़े नहीं आई। अपने होसले के दम पर इस बुर्जग ने अपनी जीवन संगनी के साथ हाथ में कुदाल थामकर एक इतिहास बना डाला।

बैतुल जिले के चिचोली विकास खंड में बालईमाल गांव के 80 वर्षीय रामू यादव ने अपनी 75 वर्षीय बीवी के साथ मिलकर लगभग दो किलोमीटर का कच्चा गेवल मार्ग बना डाला। इस रास्ते को बनाने में बुर्जग दंम्पती को पूरा एक साल लग गया। अब मार्ग बनकर तैयार हो गया तो खेत तक गाड़ी बैल और ट्रैक्टर भी जाने लग गया है। दोनों दंपत्ति का मानना है कि आज हमें जरुरत थी तो दोनों ने मिलकर इस सड़क का निर्माण कर दिया। इस सड़क का उपयोग आने वाली पीढ़ी भी करें, इसके लिए कोई रोक-टोक नहीं यही है।

रामू यादव के मुताबिक, उनका खेत जंगल के रास्ते में होने से केवल पगडंडी रास्ता था, जिस पर पैदल आया जाया करते थे। रास्ता बेहद उबड़ खबड़ होने के साथ बेहद पथरीला था। ऊपर से पहाड़ की चढ़ाई, जहां पैदल के अलावा गाड़ी बैल भी नहीं जा सकती है। इस बुजुर्ग ने पहाड़ को भी खोद डाला। दोनों ने मिलकर 10 फीट चौड़ा और लगभग 2 किलोमीटर मार्ग तैयार कर दिया। अब इस मार्ग से 80 वर्षीय रामू यादव और उनकी पत्नी बैल गाड़ी से अपने खेत जाते है। बुर्जग दंम्पती के हौसले की दास्तान गांववालों को भी हैरत में डाल दिया।