कंगारुओं पर टूटा अश्विन का कहर, दूसरी पारी में चटकाए 6 विकेट

बेंगलुरु (7 मार्च): भारत ने बेंगलुरु टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को 75 रनों से हराकर चार मैचों की सरीज में वापसी कर ली है। भारत की इस जीत के साथ गावस्कर-बॉडर सीरीज 1-1 के बराबर हो गया है। दूसरे टेस्ट मैच में टीम इंडिया ने एक यूनिट की तरह हर क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन किया। जहां के एल राहुल ने पहली पारी में 90 और दूसरी पारी में 51 रनों की उपयोगी पारी खेली। वहीं दूसरी पारी में चेतेश्वर पुजारा ने शानदार 92 रन बनाए। आजिंक्य रहाणे ने 52 रनों का महत्वपूर्ण योगदान दिया।

जडेजा ने पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया के 6 बल्लेबाजों को आउट किया तो दूसरी पारी ने अश्विन ने कंगारुओं के 6 बल्लेबाजों से सस्ते में चलता किया। वहीं इशांत शर्मा और उमेश यादव ने भी शानदार गेंदबाजी की। ऑस्ट्रेलिया ने अपने आखिरी 6 विकेट मात्र 11 रनों के अंदर खो दिए।

ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी में रविचंद्रन अश्विन धारदार गेंदबाजी करते हुए 41 देकर ऑस्ट्रेलिया के 6 बल्लेबाजों को पवैलियन लौटा दिया। ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 188 रनों की दरकार थी जबकि पूरी टीम 112 रनों पर आल आउट हो गई।

इस टेस्ट मैच के चौथे दिन छोटे टारगेट का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम को पहला झटका रेनशॉ के रूप में लगा। उन्हें 5 रन के निजी स्कोर पर इशांत शर्मा ने विकेटकीपर रिद्धिमान साहा के हाथों लपकवाया। दूसरा विकेट डेविड वॉर्नर का था। वॉर्नर 17 रन बनाकर अश्विन की बॉल पर एलबीडब्ल्यू आउट हो गए।

तीसरा विकेट शॉन मार्श का गिरा, मार्श 9 रन बनाकर उमेश यादव की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हो गए। चौथा विकेट कप्तान स्मिथ का गया। स्मिथ 28 रन बनाकर उमेश यादव की गेंद पर एलबीडब्ल्यू हो गए। मिचेल मार्श 13 रन बनाकर अश्विन की बॉल पर नायर के हाथों लपके गए। इसके कुछ ही देर बाद अश्विन की ही बॉल पर नए बैट्समैन मैथ्यू वेड (0) का शानदार कैच साहा ने लपका।

इसके पहले भारत ने अपनी पहली पारी में मात्र 189 रन बनाए थे, इस पारी में लोकेश राहुल (90) को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज ज्यादा देर तक मैदान पर टिक नहीं सका था। वहीं ऑस्ट्रेलिया ने अपनी पहली पारी में 276 रन बनाए थे। पहली पारी के आधार पर बढ़त बना चुकी ऑस्ट्रेलिया के सामने भारत ने दूसरी पारी 274 रन बनाए और मेहमान टीम को जीत के लिए 188 रनों का लक्ष्य दिया था।