रविशंकर प्रसाद ने कहा, अगर लालू निर्दोष हैं तो करें साबित

नई दिल्ली ( 16 मई ): राजद नेता और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव पर आयकर विभाग ने बड़ी कार्रवाई की है। विभाग ने लालू यादव के दिल्ली, गुरुग्राम समेत 22 ठिकानों पर छापेमारी की है। बताया जा रहा है कि यह छापेमारी लालू और उनके परिवार की तरफ से हुए जमीन सौदों को लेकर हुई है।


लालू यादव के भाजपा के दबाव में छापे मारने के दावे को केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने खारिज कर दिया। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि लालू का आरोप गलत है और अगर वह निर्दोष हैं तो उन्हें साबित करना चाहिए। लालू यादव से जुड़ी बेनामी संपत्ति के मामले में दिल्ली-एनसीआर में छापे मारे गए थे जिस पर लालू ने कहा कि बीजेपी के इशारे पर छापे मारे जा रहे हैं।


आयकर विभाग ने आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव और उनकी बेटी मीसा भारती से जुड़े कथित बेनामी लैंड डील मामले में मंगलवार को दिल्ली-एनसीआर में छापेमारी की है। इस छापेमारी के बाद लालू ने बीजेपी और आरएसएस पर जमकर निशाना साधा और कहा कि 'मैं गीदड़ भभकी से डरने वाला नहीं हूं। लालू की आवाज दबाएंगे तो देशभर में करोड़ों लालू खड़े हो जाएंगे।'


वहीं केंद्र का बचाव करते हुए रविशंकर प्रसाद ने कहा कि किसी को डराने या किसी पर दबाव डालने के लिए छापे नहीं मारे जा रहे हैं। उन्होंने कहा, 'नियमित प्रक्रिया के तहत छापे मारे जा रहे हैं। हमारा किसी को डराने या धमकाने का इरादा नहीं है।' उन्होंने आगे कहा कि अगर लालू प्रसाद को यकीन है कि वह किसी घोटाले में शामिल नहीं हैं तो उन्हें आयकर विभाग के अधिकारियों के सामने इस बात को साबित करना चाहिए।


सूत्रों के मुताबिक 1,000 करोड़ रुपये की बेनामी संपत्ति के आरोप में यह छापे मारे गए। लालू के अलावा आरजेडी सांसद पी. सी. गुप्ता के बेटे के घर के साथ ही कुछ और बिजनसमैन के यहां छापे मारे गए।