चार छक्के मारने के बाद ब्रेथवेट ने स्टोक्स से ये कहा था...

नई दिल्ली(9 अप्रैल): टी-20 विश्व कप के फाइनल में वेस्टइंडीज के खिलाफ अंतिम ओवर में चार छक्के खाने वाले इंग्लिश गेंदबाज बेन स्टोक्स ने कहा है कि उन्हें ऐसा लगा था कि उस समय उन पर मुसीबत का पहाड़ टूट पड़ा है। वेस्टइंडीज को विश्व कप के फाइनल मैच में अंतिम ओवर में जीत के लिए 19 रन चाहिए थे। ऐसा लग रहा था कि स्टोक्स इस मैच को बचा लेंगे लेकिन कैरेबियाई बल्लेबाज कालरेस ब्रेथवेट ने एक के बाद एक चार छक्के लगाकर दो गेंद शेष रहते वेस्टइंडीज को खिताबी जीत दिला दी।

स्टोक्स ने कहा कि मैंने सोचा कि मैं अभी-अभी विश्व कप हारा हूं। मुझे यकीन नहीं हो रहा था। मैं पूरी तरह छिन्न-भिन्न हो चुका था। मुझ पर हर एक छक्के के साथ मुसीबत का पहाड़ टूट पड़ा था। स्टोक्स का मानना है कि इस घटना के बाद वह एक बेहतर खिलाड़ी बनकर सामने आएंगे। बकौल स्टोक्स आज की तारीख में निराशा मेरी सबसे बड़ी भावना है। मेडल लेते वक्त मैंने सोचा था कि मेरी वजह से हमें उप-विजेता के मेडल से संतोष करना पड़ रहा है। असल में हम यह नहीं चाहते थे।

स्टोक्स ने कहा कि मैच के बाद वह ब्रेथवेट के व्यवहार से प्रभावित थे क्योंकि ब्रेथवेट ने उन्हें ब्रिलिएंट लैड कहकर पुकारा था। बकौल स्टोक्स हमने कैरेबियाई टीम के साथ मैच के बाद बीयर नहीं पी लेकिन ब्रेथवेट मेरे पास आए और मेरी शर्ट मांगी। मैंने उन्हें अच्छा खेलने की बधाई दी।