चीन और अमेरिका में ठनी, धमकी ना दो नहीं तो दुश्मनों से मिलकर जवाब देंगे

बीजिंग (12 दिसंबर): अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के 'वन चाइना' पॉलिसी पर दिए गए बयान के बाद चीन ने कड़ा रुख अखितार करते हुए अमेरिका को धमकी दी है। चीन ने कहा कि अगर वह ट्रंप ताइवान का मसला व्यापार में रियायत पाने के लिए इस्तेमाल करेंगे तो बीजिंग, US के दुश्मनों को सैन्य सहायता दे सकता है।

ग्लोबल टाइम्स में छपे संपादकीय के मुताबिक, 'अगर ट्रंप वन चाइना पॉलिसी को छोड़ते हैं, सार्वजनिक तौर पर ताइवान की आजादी का समर्थन करते हैं और ताइवान को हथियार बेचते हैं तो चीन के पास वॉशिंगटन से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर साझेदारी रखने की कोई वजह नहीं बचेगी। अमेरिका को रोकने के लिए चीन सेना का

इस्तेमाल करेगा।'

संपादकीय में आगे लिखा गया है कि 'ट्रंप बेहद भोले हैं जो यह सोचते हैं कि वह वन चाइना पॉलिसी का इस्तेमाल चीन से व्यापारिक लाभ लेने के लिए कर सकते हैं।' संपादकीय में ट्रंप की व्यापारियों वाली सोच की आलोचना की गई है। लिखा गया है कि 'वन चाइना पॉलिसी बेचने के लिए नहीं है। ट्रंप सोचते हैं कि हर चीज की कीमत लगाई जा सकती है। वह कुछ भी खरीद और बेच सकते हैं। अगर अमेरिका के संविधान की कीमत तय कर दी जाए तो क्या अमेरिकी नागरिक अपना संविधान बेच कर सऊदी अरब या सिंगापुर की राजनीतिक व्यवस्था लागू कर देंगे?'

बता दें कि अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने फॉक्स न्यूज को दिए इंटरव्यू में वन चाइना पॉलिस को लेकर सवाल उठाए थे। ट्रंप ने कहा था कि अगर चीन हमें व्यापार में रियायत नहीं देता तो अमेरिका वन चाइना पॉलिसी से क्यों बंधा है।