'पाक से लश्कर-जैश पर कार्रवाई के लिए बोल सकता है चीन'

नई दिल्ली(5 सितंबर): चीनी सरकार के साथ जुड़े दो विशेषज्ञों ने बताया कि चीन पाकिस्तान से आतंकवादी समूह लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद पर कार्रवाई के लिए बोल सकता है। इन दोनों ही आतंकी संगठनों का नाम सोमवार को ब्रिक्स डिक्लेरशन में आया। 

- बीजिंग में दक्षिण एशिया संस्थान और दक्षिण पूर्व एशियाई अध्ययन संस्थान के निदेशक हू शिशंग ने कहा, घोषणा से, आप कह सकते हैं कि इस मामले पर चीन के दृष्टिकोण में एक दृश्यमान बदलाव है। हू ने कहा कि बेशक, ये आतंकवादी समूह हैं और ये सूचीबद्ध होना चाहिए (घोषणा में) लेकिन पाकिस्तान में और भी घातक आतंकवादी समूह हैं जैसे कि हाल ही पाकिस्तान में दो चीनी नागरिकों की हत्या की थी। उन्हें भी सूचीबद्ध किया जाना चाहिए। 

- यह पूछे जाने पर कि चीन के इस मुद्दे पर दृष्टिकोण में बदलाव क्यों आया है, चीनी विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी किया कि संबंधित संगठन "प्रकृति में हिंसक हैं" और "संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा निंदा" किया गया है। हालांकि, यह संक्षिप्त बयान में पाकिस्तान का उल्लेख नहीं किया।