चीन: प्रदूषण से बेहाल बीजिंग ने आतिशबाजी पर लगाई रोक

नई दिल्ली ( 2 दिसंबर ): भारत के साथ ही प्रदूषण से चीन भी परेशान है। चीन की राजधानी बीजिंग के स्थानीय प्रशासन ने चंद्र नववर्ष से कुछ हफ्ते पहले पटाखों और आतिशबाजी पर पूरी तरह रोक लगा दी है।

चीन की सरकारी समाचार एजेंसी के मुताबिक बीजिंग का स्थानीय प्रशासन आतिशबाजी से वायु प्रदूषण और लोगों की मौत की घटनाओं को देखते हुए जुलाई से ही इस पर रोक लगाने पर विचार कर रहा था। एक अधिकारी ने बताया कि 2015-2017 के बीच चीनी नववर्ष के मौके पर आतिशबाजी से जुड़े हादसों में दर्जनों लोग घायल हुए या फिर मारे गए।

रिपोर्ट के मुताबिक बीजिंग म्यूनिसिपल पीपुल्स कांग्रेस की स्थायी समिति ने शुक्रवार को पटाखों और आतिशबाजी पर रोक लगाने का फैसला किया। यह पाबंदी बीजिंग में पांचवी रिंग रोड के भीतर के हिस्से में लागू होगी। पांचवी रिंग रोड बीजिंग के केंद्र से 10 किमी के दायरे को घेरती है। स्थायी समिति ने यह भी कहा है कि पांचवीं रिंग रोड के बाद का क्षेत्रीय प्रशासन चाहे तो आतिशबाजी पर पूरी तरह रोक लगा सकता है। हालांकि, इन इलाकों में भी लोगों को केवल सीमित समय के लिए आतिशबाजी करने की छूट होगी। 

चीन में चंद्र नववर्ष का पारंपरिक उत्सव 15 दिन तक चलता है, जिसमें आतिशबाजी को काफी महत्व दिया जाता है। इसे बुरी आत्माओं को भगाने से भी जोड़कर देखा जाता है। हालांकि, प्रदूषण की समस्या से जूझ रहे चीन ने हाल के महीनों में इसे रोकने के लिए कई सख्त कदम उठाए हैं। चीन के उत्तरी शहर जाड़ों में धुंध में घिर जाते हैं।