ITR फाइल करने से पहले ही देनी होगी 200% पेनाल्टी, जनधन अकाउंट्स पर भी नजर

नई दिल्ली ( 14 नवंबर ) :  इनकम टैक्स विभाग ने एक नोटिस भेज बताया है कि अघोषित आय बैंकों में जमा कराने वालों से 200 फीसदी पेनल्टी आईटीआर फाइल करने के पहले ही वसूल ली जाएगी। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की नजर नोट बैन के बाद से 2.5 लाख रुपए से ज्यादा हर बैंक डिपॉजिट पर है। 50 दिन के विंडो पीरियड में डिपॉजिट होने वाली अघोषित आय पाई गई, तो इस पर टैक्स के साथ 200 फीसदी तक पेनल्टी ली जाएगी। वित्त मंत्रालय का कहना है कि आईटीआर फाइल करने के पहले ही यह पेनल्टी वसूल ली जाएगी।

 

नोट बैन के बाद सरकार ने 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट को बैंक में जमा कराने के लिए 30 दिसंबर तक का समय दिया है। यदि आप 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट 2.5 लाख रुपए से ज्यादा जमा कराते हैं, तो बैंक इसकी जानकारी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को देगा। अगर इनकम से ज्यादा प्रॉपर्टी मिली तो इस रकम पर टैक्स के साथ 200 फीसदी पेनल्टी देनी पड़ेगी।

मनी लांड्रिंग निरोधक कानून की धारा 12 के तहत कर विभाग रिजर्व बैंक सहित सभी बैंकों से सूचना मांग सकता है। अधिकारी ने कहा कि नोटों की अदला बदली के लिए उपलब्ध कराए गए 50 दिन के समय का दुरुपयोग न हो यह सुनिश्चित करने के लिए सरकार सालाना आईटीआर भरने से पहले ही कर व जुर्माना लगा सकता है। हालांकि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने स्पष्ट कहा है कि कृषि आय अभी भी पहले की तरह कर मुक्त है। वहीं छोटे व्यापारी, घरेलू महिलाएं और कामगार अपने पैसे बगैर किसी डर के अपने खातों में जमा करा सकते हैं।