इस फल के कारण देश में हो रहे हैं गलत काम!

नई दिल्ली: क्या आप कभी सोच सकते हैं कि फल के कारण भी अपराध होता है। डॉक्टर जहां किसी भी फल को सेहत के लिए फायदेमंद बताते हैं, और उसको खरीदने के लिए लोग उंची कीमत भी देने को तैयार रहते हैं। ऐसे ही एक फल की कमी के कारण लोग अपराध कर रहे हैं।

प्रशांत महासागर में कीवियों वाले देश न्यूजीलैंड में लोग एवोकैडो फल की कमी की वजह से चोरियां कर रहे हैं। इस फल की अंतरराष्ट्रीय और स्थानीय स्तर पर काफी मांग है। यह फल यहां का काफी लोकप्रिय फल है।बीते साल इसकी पैदावार कम हुई है, जिससे यहां के बागानों से बड़े पैमाने पर इन फलों की चोरी की जा रही है।

यगां तक नौबत आ गई है कि अब इसकी कालाबाजारी तक हो रही है। इस साल इस देश के नॉर्थ आइलैंड में अभी तक 40 बड़ी चोरियां हो चुकी है। फायदे और मुनाफ के चक्कर में लोग चोरियां कर रहे हैं।

पैदावार की कमी की वजह से इस फल की कीमतें आसमान छू रही हैं। पूरे न्यूजीलैंड में इन्हें बेहद ऊंचे दामों में बेचा जा रहा है। बाजारों में एक फल की कीमत 250 रुपए से लेकर 300 रुपए तक जा पहुंची है। इन फलों को उगाने वाले उत्पादक अपने फलों के ढेर को लोगों की नजरों से छिपाकर रख रहे हैं, ताकि चोरों की उन पर नजर न पड़े। ये लोग कंबलों, कपड़ों और गत्तों से इन ढेरों को छिपाकर रखते हैं। बागान मालिक अपने बागों में अलार्म और ऑटोमेटिक लाइटें लगा रहे हैं, ताकि चोरों को भगाया जा सके।

हालांकि इन फलों को चुराने के बाद इन्हें सहेजने में भी काफी मुश्किलें आती हैं। अकसर तो ये सड़ जाते हैं। सही से नहीं रखने पर ये जहरीले भी जाते हैं। ये फल भूमध्यसागरीय जलवायु में ज्यादा होते हैं, हालांकि प्रशांत महासागर के भी न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया जैसे देशो में भी ये पाए जाते हैं। इनका सलाद, और खान-पान में खूब इस्तेमाल किया जाता है। इसे खाने से खून में कोलेस्ट्रॉल के स्तर में काफी कमी आती है।