सचिन के संन्यास पर बोले पाटिल- हमने दबाव बनाया या नहीं, यह सीक्रेट रहे तो बेहतर

नई दिल्ली(13 सितंबर): बीसीसीआई में चीफ सिलेक्टर्स संदीप पाटिल और बाकी सिलेक्टर्स ने आखिरी बार टीम इंडिया का सिलेक्शन किया। उनका टेन्योर इसी के साथ ही खत्म हो गया है। 

- पाटिल ने इस मौके पर कहा कि सचिन तेंडुलकर पर रिटायरमेंट का हमने दबाव बनाया या नहीं यह गुलदस्ते में ही रहे तो बेहतर है। पहली बार इस सवाल पर वे मौन रहे। दूसरी बार भी जब यह सवाल आया तो बोले, ''हमने सचिन पर रिटायरमेंट लेने का दबाव बनाया या नहीं? यह सीक्रेट ही रहे तो बेहतर है। हम चयनकर्ता सिर्फ बीसीसीआई के प्रति ही जवाबदार हैं। हमसे मीडिया कुछ उगलवा नहीं सकेगी।'' संदीप ने यह संकेत तो दे ही दिया कि सचिन का संन्यास का मामला कुछ स्पेशल था। पाटिल के 4 साल के टेन्योर में 57 क्रिकेटरों ने किया डेव्यू...

- संदीप पाटिल सितंबर 2012 में चीफ सिलेक्टर्स बने थे। उनके टेन्योर में ही सचिन तेंडुलकर, राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण, वीरेंद्र सहवाग, जहीर खान ने रिटायरमेंट लिया।

- 57 क्रिकेटरों ने इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया। इनमें से 12 क्रिकेटरों ने टेस्ट, 21 ने वनडे और 24 ने टी20 में पहला मैच खेला। - पाटिल ने कहा, 'हमने भारतीय क्रिकेट के भविष्य को ध्यान में रखते हुए कई बड़े और कड़े फैसले किए। मैं अपने कार्यकाल के समापन पर खुश हूं। हमारी टीम तीनों प्रारूपों में अच्छा खेल रही है।'

- उन्होंने कहा, 'मैं इस बात से भी खुश हूं कि बोर्ड ने राहुल द्रविड़ को जूनियर और अनिल कुंबले को सीनियर टीम का कोच बनाया है।' - पाटिल ने कहा, 'टीम की चयन प्रक्रिया में कभी भी बाहरी दबाव महसूस नहीं हुआ। मेरे कार्यकाल के दौरान बीसीसीआई के किसी भी जोन के अधिकारी ने टीम में चयन को लेकर समिति पर कोई दबाव नहीं डाला और न ही किसी खिलाड़ी की सिफारिश की।'