पहला बांग्लादेशी कारगो ट्रक दिल्ली पहुंचा, बीबीआईएन मेगा मार्केट शुरु

नई दिल्ली (6 अगस्त): मार्क्स ऐंड स्पेंसर के लिए बना सामान लेकर  28 अगस्त को बांग्लादेश की राजधानी ढाका से रवाना हुआ ट्रक सोमवार शाम दिल्ली पहुंच गया। इसी के साथ दो देशों के साथ व्यसाय का एक इतिहास भी कायम हो गया। यह ट्रक उस कोशिश का हिस्सा है, जिसके तहत बांग्लादेश, नेपाल, भूटान और भारत का मेगा मार्केट तैयार करने की बात कही गयी है। ट्रांसपोर्ट के लिहाज से इसमें कीमत और समय दोनों भी बचत संभव है।

- मार्क्स ऐंड स्पेंसर में भारत की कंट्री मैनेजर  ने बताया, 'हमें इसके कारण ढुलाई की लागत में 20 फीसदी और माल की आवाजाही में 3 दिनों की बचत हुई है।

- पहले बांग्लादेश के ट्रकों को सीमा पर सामान खाली करना होता था और आगे की यात्रा के लिए उसे भारतीय ट्रकों में शिफ्ट करना होता था।

- पहले देरी के अलावा सामानों को नुकसान भी पहुंचता था।

- इन सामानों को एक से दूसरे ट्रक में ट्रांसफर किए जाने के दौरान चोरी और मौसम की मार का भी खतरा होता था।

- अब ट्रक में लगी चिप के कारण कस्टम फ्री सीमाओं के जरिये बांग्लादेशी ट्रक के इस पायलट ट्रिप की निगरानी रियल टाइम बेसिस पर हो रही है।

- इस तरह के सभी मूवमेंट में इस तरह का ढांचा अपनाया जा सकता है।

- कस्टम डिपार्टमेंट के एक सीनियर अधिकारी ने  बताया, अब इससे साउथ एशिया रीजन में सामान और यात्री गाड़ियों की बेरोक-टोक आवाजाही शुरु हो गयी है।'

- बांग्लादेश, नेपाल, भूटान और भारत ने जून 2015 में मोटर वीइकल्स अग्रीमेंट पर दस्तखत किए थे।

- इसके मुताबिक, तात्कालिक मंजूरी वाले डॉक्युमेंट के साथ सामान से भरे ट्रकों को सीमा पार करने की इजाजत होगी।

- बांग्लादेश से इस ट्रक को लेकर चले ड्राइवर मोतिउर इस्लाम और मोहम्मद रसेल ने कहा कि इस ऐतिहासिक क्षण का हिस्सा बन कर वो काफी रोमांचित हैं।