बरेली के बाज़ार में झुमका लगना है; सुझाव दो, 25,000 रुपए जीतो

बरेली :  'अरे झुमका गिरा रे, बरेली के बाज़ार में'...इस गाने को 50 साल हो गए हैं। लेकिन ये बरेली के नाम के साथ ऐसा जुड़ा है कि शहर का नाम लेते ही दूसरा शब्द झुमका ज़ुबान पर आता है। ये गाना 1966 में रिलीज़ हुई फिल्म मेरा साया का है। आशा भोसले के गाए इस गाने को  अभिनेत्री साधना पर फिल्माया गया था। राजा मेहंदी अली ख़ान के लिखे इस गीत को मदनमोहन ने संगीत दिया था।

ये गाने की लोकप्रियता ही है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल में रैली को संबोधित किया तो झुमके का ज़िक्र करना नहीं भूले। अब बरेली शहर ने इस झुमके को औपचारिक तौर पर सम्मान देने का फैसला किया है। इस झुमके के लिए 14 मीटर जगह शहर के डेलापीर तिराहे पर सुरक्षित रखी गई है। 

बरेली विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष शशांक विक्रम सिंह के मुताबिक जब बाहर के लोग आते हैं तो गाने की लोकप्रियता के चलते झुमके के बारे में ज़रूर पूछते हैं।

झुमके के डिजाइन के लिए लोगों से सुझाव मांगे गए हैं। इसके अलावा लोग झुमके में लगने वाली मेटल और साइज के बार में भी जानकारी दे सकते हैं। सुझाव जमा करने की आखिरी तारीख 18 मार्च है। विजेता को 25 हज़ार रुपए नकद पुरस्कार भी दिया जाएगा।

बरेली विकास प्राधिकरण के चीफ इंजीनियर अजय सिंह के मुताबिक डेला पीर इलाके के सौंदर्यीकरण के लिए कुल 6.50 करोड़ रुपये का बजट रखा गया है।

लीजिए सुनिए ये गाना-

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=aegT7gsQVLM[/embed]