संयुक्त राष्ट्र के मंच से ओबामा ने पाकिस्तान को फटकारा, छद्म युद्ध बंद करो

नई दिल्ली (21 सितंबर): पाकिस्तान को परोक्ष रूपसे चेतावनी देते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है परोक्ष युद्धों में शामिल राष्ट्रों को इसे खत्म करना चाहिए कहा। साथ ही उन्हें चेतावनी दी कि यदि समुदायों को सह अस्तित्व की इजाजत नहीं दी गई तो चरमपंथ के अंगारे उन्हें जला डालेंगे जिससे अनगिनत लोग पीड़ित होंगे।

अमेरिकी राष्ट्रपति के रूप में संयुक्त राष्ट्र महासभा को अपने आठवें और आखिरी संबोधन में ओबामा ने स्वीकार किया कि चरमपंथ और साम्प्रदायिक हिंसा दुनिया को अस्थिर कर रहा है।  ओबामा ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 71 वें सत्र में कहा, ‘‘कोई बाहरी शक्ति विभिन्न धार्मिक समुदायों को या जातीय समुदायों को लंबे समय तक सह नहीं पायेगी।

उन्होंने कहा कि हमें इस बात पर जोर देना होगा कि सभी पक्ष एक साझा मानवता को मान्यता दें और अव्यवस्था को तूल देने वाले परोक्ष युद्धों को देश खत्म करें। ओबामा का ये बयान अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी की टिप्पणी के एक दिन बाद आया है जिसमें उन्होंने पाक प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से कहा था कि वह आतंकवादियों को अपनी सरजमीं का सुरक्षित पनाहगाह के तौर पर इस्तेमाल करने से रोकें।