अब आपकी आंखें होगी आपका पासवर्ड, स्मार्टफोन में देखकर खुलेगा अकाउंट

नई दिल्ली (27 जनवरी): अभी तक आप नेट बैंकिंग या एटीएम का प्रयोग यह सोचकर नहीं करते होंगे कि कहीं यह किसी के हाथ ना लग जाएं। लेकिन जल्द ही बैंकिंग सिस्टम एक ऐसी तकनीक लेकर आने जा रहा है, जिससे आपका अकाउंट पूरी तरह आपके पास सुरक्षित हो जाएगा।

अभी तक अमेरिका और यूरोप में आई-स्कैनिंग टेक्नोलॉजी के चलते लाखों लोग सिर्फ अपने मोबाइल फोन में देखते हैं और अपने बैंक खाते से ट्रांजैक्शन कर लेते है। इस टेक्नोलॉजी की शुरुआत अब भारतीय बैंकों में जोरशोर से हो रही है। इसके लिए कुछ बैंकों ने आधार कार्ड का सहारा लेते हुए नए ग्राहकों के बैंक अकाउंट खोलने के लिए आई-स्कैनर टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल शुरू कर दिया है।

बैंक ग्राहकों को आंख के जरिए आडेंटिटी प्रूफ देने के लिए आधार नंबर का सहारा लेकर बैंक अकाउंट खुलवाना होगा। अकाउंट खोलते वक्त बैंक एक बार फिर आपकी आंख का आइरिस सैंपल रिकॉर्ड करेगा और उसका आपके आधार नंबर के साथ मिलान करेगा। भारत में निजी क्षेत्र के बैंक डीसीबी ने अपने पाइलट प्रोग्राम के तहत छोटे शहर और ग्रामीण इलाकों में अपनी 10 शाखाओं में 200 बैंक खातों को इस आधार पर खोलने का काम पूरा

कर लिया है।

वीडियो में जानिए कैसे काम करेगा आंख से बैंक अकाउंट...