कई बैंकों के ऐप पर वायरस अटैक, खतरे में है इन बैंकों के अकाउंट

नई दिल्ली ( 6 जनवरी ): अगर आप बैकिंग एप का इस्तेमाल करते हैं तो सावधान हो जाएं। खबर है कि एक एंड्रॉयड मालवेयर की बुरी नजर दुनियाभर के 232 बैकिंग ऐप पर है। इनमें से कुछ ऐप भारतीय बैंकों के भी हैं। 

एक नया एंड्रॉयड मैलवेयर ढूंढा गया है जो 232 बैंकिंग ऐप्स को निशाना बना रहा है। मैलवेयर एक तरह का सॉफ्टवेयर ही होता है जिसे कंप्यूटर या स्मार्टफोन में बिना उसके मालिक को बताए सेंध लगाने के लिए बनाया जाता है। इसके जरिए हैकर्स दूसरे डिवाइस को टार्गेट करते हैं। एंड्रॉयड बैंकर ए9480 (Android.banker.A9480) टॉर्जन मालवेयर, यूज़र के निजी डेटा को चुराने का काम करता है। यह जानकारी क्विक हील सिक्योरिटी लैब ने दी है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक यह नया मैलवेयर कुछ भारतीय बैंकों के ऐप्स को भी निशाना बना रहा है। इनमें HDFC Mobile Banking, Axis Mobile, SBI Anywhere Personal, ICIC Bank, IDBI Bank, Baroda mPassbok और Union Bank के ऐप्स सामिल हैं। 

क्विकहील सिक्योरिटी लैब्स का दावा है कि इस ट्रॉजन को यूजर्स के लॉग इन से जुड़ी जानकारियां चोरी करने के लिए डिजाइन किया गया है। यह मैलवेयर मोबाइल के एसएमएस हाइजैक करने से लेकर खतरनाक सर्वर पर फोन के कॉन्टैक्ट्स और एसएमएस अपलोड कर सकता है।

क्विकहील ने अपने ब्लॉग पर लिखा है, ‘Android.banker.A9480 फर्जी फ्लैश प्लेयर ऐप के जरिए फैलाया जा रहा है। इसे आम तौर पर थर्ड पार्टी ऐप स्टोर में भेजा जा रहा है. ऐडोब फ्लैशप्लेयर इंटरनेट पर काफी पॉपुलर प्रोडक्ट है। फ्लैश प्लेयर की लोकप्रियता दुनिया भर में काफी है, इसलिए इसे हैकर्स टार्गेट पर पहुंचने के लिए इस्तेमाल करते हैं।’

बैंकिंग ऐप पर अटैक करने वाले मैलवेयर से ऐसे बचें- -सबसे पहले अगर आपके फोन में किसी भी बैंक ऐप है तो उसका डाटा क्लियर करें। -मैसेज या ई-मेल में आए किसी भी लिंक से ऐप इंस्टॉल न करें। -फोन की सेटिंग्स में जाकर Unknown Sources को डिसेबल करें। इससे थर्ड पार्टी ऐप आपके फोन में इंस्टॉल नहीं हो सकेंगे। -गूगल प्ले-स्टोर और एप्पल के ऐप से स्टोर से के अलावा किसी थर्ड पार्टी सोर्स से ऐप डाउनलोड न करें। -अगर मोबाइल में अपडेट आया है तो उसे फटाफट अपडेट करें या फिर अपडेट के लिए सेटिंग्स में एबाउट में जाकर चेक करें। -डाउनलोड फोल्डर में चेक करें कि कोई ऐसा तो डाउनलोड नहीं हुआ है जिसे आपने डाउनलोड किया ही नहीं है।