बैंक कर्मचारी यूनियनों ने वित्त मंत्री और चुनाव आयोग को लिखा चिट्ठी, इलेक्शन ड्यूटी मेंं नहीं लगाए जाने की मांग की

नई दिल्ली (10 जनवरी):  अगले महीने 5 राज्यों में चुनाव होने वाले हैं और चुनाव ड्यूटी में बैंक कर्मचारियों को भी लगाया जाता है। लेकिन इसबार बैंककर्मचारी चुनाव में ड्यूटी नहीं करना चाहते हैं। बैंक कर्मचारियों ने इसके लिए वित्त मंत्री और चुनाव आयोग को चिट्ठी भी लिखी है। बैंक कर्मचारियों का कहना है नोटबंदी की वजह से वैसे भी उनके ऊपर काम का बोझ बढ़ा हुआ है और ऊपर से मार्च का क्लोजिंग नजदीक है, ऐसे में वो चुनाव ड्यूटी नहीं कर पाएंगे। लिहाजा उन्हें चुनावी ड्यूटी से बाहर रखा जाए।

आपको बता दें कि नोटबंदी के ऐलान के बाद बैंक में काम का बोझ बढ़ गया है। बैंककर्मी सरकार की नोटबंदी की मुहिम को सफल बनाने के लिए पिछले दिनों ज्यादा देर तक काम करते रहे। ऊपर से मार्च में तमाम बैंकों के लिए वित्तीय साल का आखिरी महीना होता है। लिहाजा उन्हें पूरे साल का लेखाजोखा तैयार करना होता है। वैसे भी नोटबंदी की वजह से बैंक कर्माचरियों को इस वित्तीय साल में लोखाजोखा तैयार करने में ज्यादा मशक्कत करनी पड़ रही है।

गौरतलब है कि 5 राज्यों में अगले महीने से विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में आगामी विधानसभा चुनाव में बैंक कर्मचारी शायद निर्वाचन ड्यूटी करते नजर नहीं आएं।