बैंक मैनेजर ने की एक हजार करोड़ की हेराफेरी, गिरफ्तार

नई दिल्ली (9 फरवरी): ऑनलाइन ठक अनुभव मित्तल के साथ मिलकर करीब एक हजार करोड़ रुपये की हेराफेरी करने वाले यस बैंक के मैनेजर अतुल मिश्रा को गिरफ्तार किया गया है। इसकी जानकारी एसटीएफ को जांच में मिली।

एसटीएफ सीओ राजकुमार मिश्रा ने बताया कि शुरू से ही इस बात की आशंका थी कि अनुभव मित्तल ने बैंक अधिकारियों के साथ मिलकर खातों में जमा रकम को निकाला है। जांच में पता चला कि गाजियाबाद के राजनगर आरडीसी स्थित यस बैंक में अनुभव मित्तल के एब्लेज इंफो साल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड के दो खाते हैं। इन खातों से अक्टूबर-दिसंबर 2016 के बीच एक करोड़ रुपये विभिन्न खातों में ट्रांसफर हुए।

एसटीएफ ने इसकी जांच की, जिसमें पता चला कि मित्तल के एब्लेज इंफो कंपनी के खातों से बड़ी रकम ट्रांसफर होने को बैंक से गंभीरता से लिया था। बैंक ने जांच के लिए आंतरिक कमेटी बनाई थी। साथ ही कंपनी के खातों से रकम ट्रांसफर पर रोक लगा दी थी। इसी दौरान यस बैंक के बिजनेस रिलेशन मैनेजर अतुल ने अनुभव के साथ मिलीभगत कर ली।

बैंक से रोक के बावजूद अनुभव की कंपनी के दोनों खातों से विभिन्न खातों में अतुल ने एक हजार करोड़ रुपये ट्रांसफर कराए। अनुभव ने यह पैसे अपनी फर्जी कंपनियों के खातों में ट्रांसफर किए। जिसे बाद में धीरे-धीरे कर निकाल लिया गया। अब एसटीएफ उन खातों की जांच कर रही है, जिनमें पैसे गए।

नोटबंदी के कारण नहीं मिल पाई घूस की रकम...

अनुभव ने एक हजार करोड़ ट्रांसफर कराने के एवज में अतुल को सात लाख रुपये देने का वादा किया था। नोटबंदी हो गई। इस कारण अनुभव एक साथ सात लाख रुपये कैश का इंतजाम नहीं कर सका। अतुल घूस की रकम खाते में लेने को तैयार नहीं था। अनुभव ने वादा किया था कि बैंकों से पैसे निकालने की सीमा खत्म होते ही सात लाख रुपये कैश दे देगा।