अच्छी खबरः रेपो रेट कम न होने के बावजूद सस्ते होंगे बैंक लोन

नई दिल्ली (9 फरवरी): रिजर्व बैंक की रेपो रेट कोई कमी न होने के बावजूद बैंक लोन सस्ते होंगे। ऐसा बैंकों के बीच व्यावसायिक प्रतिस्पर्धा बताय़ा जा रहा है। इसी रिजर्व बैंक  ने अपनी छठी द्वैमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में रीपो रेट (जिस दर पर बैंक रिजर्व बैंक से अल्पकालिक ऋण लेते हैं) में कोई बदलाव नहीं किया। रीपो दर को केंद्रीय बैंक ने 6.25 फीसदी बरकरार रखा। हालांकि, नए लोन धारकों को निराश होने की जररूत नहीं है। कम ईएमआई के रूप में उन्हें अब भी फायदा मिल सकता है।ऐसा इसलिए होगा क्योंकि इस समय बैंकों और ऋणदाताओं में प्रतिस्पर्धा बहुत अधिक है। बैंक खुद ही ब्याज दरों में कटौती कर सकते हैं। इस बीच निवेशक फिक्स डिपॉजिट पर अधिक भरोसा कर रहे हैं।दिसंबर 2016 में भी आरबीआई ने रीपो रेट में कटौती नहीं की थी, लेकिन एसबीआई ने एक साल की बेंचमार्क एमसीएलआर में 0.9 पर्सेंट की कटौती की थी। इससे होम लोन की दरों में 0.50 फीसदी की कमी हुई थी। दूसरे कई बैंकों ने भी ऐसा ही किया।