ऐसे 10 लाख लोगों पर इनकम टैक्स करेगी कार्रवाई

नई दिल्ली (23 मार्च): नोटबंदी के दौरान 18 लाख लोगों 5 लाख रुपये से ज्यादा जो पैसे जमाए कराए थे, उनमें से 10 लाख लोगों ने इनकम टैक्स के मेल और SMS का कोई जवाब नहीं दिया। ऐसे में सरकार ने साफ कर दिया कि उन लोगों को अब बख्श नहीं जाएगा।


लोकसभा में फाइनेंस बिल पर हो रही चर्चा के दौरान पूछे गए एक सवाल के जवाब में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि नोटंबदी के 50 दिनों के दौरान 18 लाख लोगों द्वारा जमा किए गए 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट उनकी इनकम प्रोफाइल से मेल नहीं खाते थे। उन्होंने कहा कि फिलहाल रीमोनिटाइजेशन का प्रोसेस चल रहा है। लेकिन प्राप्त हुए आंकड़ों की शुरुआती जांच में CBDT (केंद्रीय प्रत्‍यक्ष कर बोर्ड) और आयकर विभाग ने पाया है कि 18 लाख लोगों द्वारा जमा की गई नकदी उनकी इनकम प्रोफाइल से मेल नहीं खाता।


केंद्र सरकार के अनुसार, आयकर विभाग द्वारा भेजे गए नोटिस का जवाब नहीं देने वाले 9.29 लाख लोगों के खिलाफ कार्रवाई होनी तय है। जेटली ने कहा कि करीब 8.71 लाख लोगों ने नोटिस का जवाब दिया है। जिन लोगों ने नोटिस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है उनके खिलाफ आयकर विभाग निश्चित रूप से आयकर अधिनियम के तहत कार्रवाई करेगा।