बैंकों के ये अलर्ट अनदेखा करना पड़ेगा महंगा, बंद हो सकता है आपका अकाउंट


नई दिल्ली (9 मई): अभी तक लोग बैंकों की तरफ से आने वाले सर्विसेज अलर्ट को ज्यादा तवज्जों नहीं देते थे, लेकिन अब ऐसा करना उनको महंगा पड़ सकता है। बैंक इसके तहत अकाउंट बैलेंस, एटीएम कार्ड, केवाईसी अपडेशन सहित दूसरी सर्विसेज के लिए अपने ग्राहकों को अलर्ट कर रहे हैं।


बैंक अपने ग्राहकों को एसएमएस, ई-मेल पर अलर्ट भेजने के साथ-साथ वेबसाइट पर भी चेतावनी दे रहे हैं।


- बैंकर्स के अनुसार ग्राहक को बैंकों के तरफ से मिले अलर्ट को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।

- बैंक ऑफ बड़ौदा ने वेबसाइट पर अलर्ट नोटिस डाला हुआ है। उसमें कहा गया है कि जिन ग्राहकों ने 2 साल से अपने अकाउंट में ट्रांजैक्शन नहीं किया है।

- साथ ही उसमें जीरो बैंलेंस है, उसे वह तुरंत बंद करवा दें। अगर वह ऐसा नहीं करते हैं, तो उनका अकाउंट फ्रीज कर दिया जाएगा।

- बैंक के अनुसार नोटिस के 15 दिन बाद वह ऐसे अकाउंट को फ्रीज कर देगा। इसके तहत सेविंग और करंट अकाउंट दोनों शामिल होंगे।

- इससे बचने के लिए ग्राहक को अपने बेस ब्रांच में जाकर अकाउंट का एक्टिवेशन 30 दिन के अंदर कराने का रिक्वेस्ट देना होगा।

- देश का सबसे बड़ा बैंक एसबीआई भी अपने ग्राहकों को डेबिट कार्ड रिप्लेस कराने के लिए अलर्ट कर रहा है।

- बैंक अब मैगनेटिक चिप वाले कार्ड रिप्लेस ब्लॉक कर रहा है। इसके बदले में ईवीएम चिप वाले कार्ड दे रहा है। - बैंक के अनुसार जिन ग्राहक का कार्ड ब्लॉक कर दिया गया है, उसे एक्टिवेट नहीं किया जाएगा।