तो 1 मई को फ्रीज हो सकता है आपका बैंक अकाउंट...

नई दिल्ली (30 अप्रैल): जिनके बैंक अकाउंट 1 जुलाई 2014 से 31 अगस्त 2015 के बीच खुले हैं उन्हें 30 अप्रैल तक अपने केवाईसी से संबंधित जानकारी और आधार नंबर को बैंकों और वित्तीय संस्थआओं में जमा करने हैं, जिन्होंने दस्तवाजे जमा नहीं कराए है, उनके खाते सोमवार से फ्रीज हो जाएंगे।


विदेशी खाता टैक्स अनुपालन अधिनियम (FATCA) के तहत जानकारियों को स्व-प्रमाणित भी करना होगा। इस फैसले का असर बैंक के खाताधारकों, बीमा योजनाओं में निवेश करनेवालों तथा म्युचुअल फंड के निवेशकों पर पड़ेगा।


एफएटीसीए के अनुपालन के लिए इन सवालों के जवाब देने होंगे- पैन डीटेल्स, जहां पैदा हुए उस देश का नाम,

अभी जहां के नागरिक हैं उस देश का नाम, राष्ट्रीयता, पेशा, कुल सालाना आय और क्या आपका राजनीति से कोई

संबंध है? यह व्यक्तिगत और गैर-व्यक्तिगत, दोनों तरह के निवेशकों के लिए अनिवार्य है। अगर आप भारत के

सिवा किसी भी दूसरे देश में टैक्स दे रहे हैं तो आपको टैक्स आइडेंटिफिकेशन नंबर देना होगा।


सीबीडीटी ने भी एक बयान जारी कर वित्तीय संस्थाओं को सलाह दी थी कि सेल्फ सर्टिफिकेशन प्राप्त करने के सारे प्रयास वित्तीय संस्थाओं द्वारा किए जाएंगे। खाता धारकों को इस बारे में सूचित कर देना चाहिए अगर 30 अप्रैल 2017 तक सेल्फ सर्टिफिकेशन की प्रक्रिया पूरी नहीं की गई तो खाते फ्रीज किए जा सकते हैं।


फ्रीज हो जाए बैंक अकाउंट तो क्या करना होगा

अगर आपका बैंक अकाउंट फ्रीज हो जाता है तो ज्यादा दिक्कत की बात नहीं है। आप खाते को फिर से खुलवा

सकेंगे लेकिन जब तक अकाउंट ओपन नहीं होता तब तक आपको दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है।

अकाउंट ब्लाक होने के बाद अगर ग्राहक द्वारा जानकारियां उपलब्ध कराई जाती है तो खाते फिर से चालू हो

जाएगा। खाता बंद होने के बाद किसी भी तरह का वित्तीय लेनदेन नहीं किया जा सकेगा।