फेसबुक पर इस्लाम के 'कट्टरपंथ' की आलोचना करने वाले बांग्लादेशी छात्र की हत्या

नई दिल्ली (7 अप्रैल): बांग्लादेश की राजधानी ढ़ाका में एक छात्र कार्यकर्ता की 3 बाइक सवार हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी। उस वक्त वह अपने दोस्त के साथ टहल रहा था।

'इंडिया टुडे' की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस को शक है कि 28 वर्षीय नज़ीमुद्दीन सामाद को उसके मुस्लिम बहुल देश में नास्तिकता पर मुखर होने की वजह के चलते निशाना बनाया गया है। इसके अलावा उसने 2013 में वॉर क्राइम्स में शामिल लोगों के लिए मौत की सजा की मांग को लेकर आंदोलन का समर्थन किया था। यह पाकिस्तान से 1971 में देश की आज़ादी के लिए हुए युद्ध के संबंध में किया गया था। ढ़ाका मेट्रोपॉलिटन पुलिस असिस्टेंट कमिश्नर नुरुल अमीन ने इस बारे में जानकारी दी है।

हालांकि, किसी गुट ने इसके लिए तुरंत जिम्मेदारी नहीं ली है। सामाद ने फेसबुक पोस्ट्स में कट्टरपंथी इस्लाम की आलोचना की थी। इसके अलावा सेक्युलरिज्म़ का प्रचार किया था। गौरतलब है, बुधवार को हुई यह हत्या उन सिलसिलेवार हत्याओं में से एक और नया मामला है। जिनमें 5 सेकुलर ब्लॉगर्स और प्रकाशकों की हत्या की गई थी। ये हत्याएं कथित तौर पर कट्टरपंथी इस्लामियों की तरफ से की गईं।