बांग्लादेश की पाकिस्तान को चेतावनी, हमारे घरेलू मामलों में दखल देना बंद करो

नई दिल्ली (9 मई): 1971 के बांग्‍लादेश के युद्ध अपराधियों को सजा दिये जाने पर पाकिस्‍तान की प्रतिक्रिया पर बांग्लादेश ने पाकिस्तान को चेतावनी दी है कि वो उसके आंतरिक मामलों में दखल देना बंद करे। बांग्‍लादेश ने 1971 के युद्ध अपराधों को लेकर हाल में ही जमात-ए-इस्‍लामी के चीफ निजामी को मौत की सजा दी थी। जिस पर पाकिस्‍तान ने गहरी चिंता जाहिर की थी।

बांग्‍लादेश के विदेश राज्‍य मंत्री शहरयार आलम ने कहा, 'हम पाकिस्‍तान की प्रतिक्रिया से निराश हैं। कोई भी हमारे अंदरूनी मामलों में दखल दे, हम उसको स्‍वीकार नहीं करेंगे। कई बार ताकीद कराने के बावजूद, वे लगातार ऐसा कर रहे हैं। वे बार-बार कह रहे हैं कि वे सजा के इस फैसले से दुखी हैं। लेकिन जिन लोगों के खिलाफ मुकदमा चलाया गया वे आखिरकार बांग्‍लादेशी नागरिक हैं। 72 साल के निजामी को मर्डर, रेप और 1971 के मुक्ति संग्राम के दौरान शीर्ष बुद्धिजीवियों की हत्‍या की साजिश रचने के आरोप में मौत की सजा सुनाई गई थी। आलम ने कहा कि पाकिस्तान का बांग्लादेश के आंतरिक मामलों में दखल एक गंभीर मुद्दा है। वो ये संदेश देना चाहते हैं कि युद्ध अपराधियों को उनका समर्थन है। हम इस स्थिति को कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे।