1971 वॉर: करीब 2 लाख महिलाओं का रेप किया था पाकिस्तानी सेना ने

नई दिल्ली (16 दिल्ली): भारत-पाकिस्तान के बीच 1971 का युद्ध बांग्लादेश लिबरेशन वॉर के रूप में शुरू हुआ था। भारत-पाक बंटवारे के बाद पाकिस्तान पूर्वी और पश्चिमी हिस्सों में बंट गया था। पूर्वी हिस्से (आज का बांग्लादेश) को पश्चिम में बैठी केंद्र सरकार अपने तरीके से चला रही थी। उन पर भाषाई और सांस्कृतिक पांबदियां थोप दी गई थीं। इसी के चलते पूर्वी पाकिस्तान में विरोध प्रदर्शन होने लगे थे। इन पर रोक लगाने के लिए सरकार ने फौज को इनका दमन करने के आदेश दिए। 

1971 में हुए बांग्लादेश की इस लिबरेशन वॉर में पाकिस्तान की सेना ने जमकर कहर बरपाया था। भारतीय सेना भी बांग्लादेश के साथ खड़ी हो गई। 1965 की जंग के बाद यह दूसरा मौका था, जब दोनों देशों की फौजें आमने-सामने थीं।  आखिरकार पाकिस्तान की शर्मनाक हार हुई और 16 दिसंबर 1971 को ढाका में 93000 पाकिस्तानी सैनिकों ने आत्मसमर्पण कर दिया। 

इस जंग में पाकिस्तानी फौज ने करीब 30 लाख लोगों का कत्लेआम किया था। वहीं, इस दौरान फौज ने दो लाख महिलाओं से रेप किया था। लाखों बच्चों को भी मौत के घाट भी उतार दिया गया था। बांग्लादेश आज यानी 16 दिसंबर को अपना ‘विक्ट्री डे’ मना रहा है।