बांग्लादेश: 'जमात-ए-इस्लामी' के पूर्व सांसद सखावत हुसैन को मौत की सज़ा

नई दिल्ली (11 अगस्त): बांग्लादेश में कट्टरपंथी जमात-ए-इस्लामी पार्टी के एक पूर्व सांसद को एक विशेष न्यायाधिकरण ने मौत की सजा सुनाई है। ये सजा 1971 के मुक्ति संग्राम के दौरान मानवता के खिलाफ युद्ध अपराध के आरोपों के लिए दी गई है। इसके अलावा सात अन्य को मौत तक जेल की सजा सुनाई गई।

- रिपोर्ट के मुताबिक, अंतर्राष्ट्रीय अपराध न्यायाधिकरण ने अपहरण, बंधक बनाने, यातना और हत्या के आरोपों में जेसोर जिले के पूर्व सांसद सखावत हुसैन को मौत की सजा सुनाई। - ‘ढाका ट्रिब्यून’ के मुताबिक, जस्टिस अनवारूल हक की अध्यक्षता में बांग्लादेश के अंतर्राष्ट्रीय अपराध न्यायाधिकरण (आईसीटी-बीडी) के तीन सदस्यीय पैनल ने कहा कि फांसी या गोली मारकर उड़ाने वाले दस्ते से मृत्युदंड की तामील कराई जा सकती है। - हुसैन उस समय जमात-ए-इस्लामी पार्टी की छात्र इकाई इस्लामी छात्र संघ के केंद्रीय कमेटी का सदस्य थ। - उसपर पाकिस्तानी सैनिकों के सहयोगी एक समूह के स्थानीय कमांडर के इशारे पर काम करने का इल्जाम था।