कुख्यात आतंकी सरगना को फांसी पर लटकाया गया

नई दिल्ली (13 अप्रैल): बांग्लादेश ने हरकत उल जिहाद अल इस्लामी (हूजी) के सरगना मुफ्ती अब्दुल हन्नान और उसके दो मददगारों को फांसी दे दी है। वे 2004 में एक दरगाह पर हमले के दोषी थे। इस हमले में तीन लोगों की मौत हुई थी और ब्रिटेन के हाईकमिश्नर घायल हुए थे।


- बांग्लादेश के होम मिनिस्टर असदुज्जमन खान ने बताया कि हन्नान को गाजीपुर की कशिमपुर जेल में उसके मददगारों शरीफ शहेदुल उर्फ बिपुल के साथ रात 10:01 बजे फांसी दी गई। हन्नान के दूसरे साथी देलवार हुसैन रिपोन को सिलहट जेल में फांसी दी गई।


- गाजीपुर एसपी हारुन उर-राशिद ने बताया कि हन्नान और बिपुन के शव का पोस्टमार्टम कर दिया गया है और उनकी बॉडी को कड़ी सिक्युरिटी के बीच उनके गांव भेज दिया गया है।