दो नाबालिग बेटियों ने मां के साथ की खुदकुशी, व्हाट्सएप स्टेटस में लिखा ऐसे पिता किसी को न मिले

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (13 अगस्त): लगातार आत्महत्या की खबरें सामने आती रहती हैं। अब ताजा मामला बेंगलुरु से सामने आया है, जहां महिला और उसकी दो नाबालिग बेटियों ने आत्महत्या कर ली है, घटना सोमवार रात की है। आत्महत्या करने से पहले महिला की एक बेटी ने अपने वॉट्सऐप पर स्टेटस लगाया, 'ऐसे पिता किसी को नहीं मिलें।' बेटी ने अपने पिता के कई अफेयर होने का आरोप लगाया। वॉट्सऐप पर स्टेटस लगाने के कुछ देर बाद तीनों ने आत्महत्या कर ली। पुलिस ने बताया कि राजेश्वरी, उनकी 17 साल की बेटी मनसा और 15 साल की भूमिका की लाश घर के छत पर लटकती हुई मिली। मनसा 12 वीं कक्षा में पढ़ती थी और भूमिका दसवीं की छात्रा थी। घटना मंगलवार को सामने आई जब महिला के भाई पुट्टस्वामी ने मनसा का वॉट्सऐप स्टेटस देखा। मनसा ने उसमें लिखा था, 'सभी को अच्छे पापा मिले चाहिए। मेरे पिता ने हम सभी लोगों की जिंदगी बर्बाद कर दी है। सिद्धैया हमारी मौत के जिम्मेदार हैं।

भांजी का स्टेटस देखकर पहुंचे पुट्टस्‍वामी

गांधी बाजार के रहने वाले पुट्टस्वामी ने जैसे ही अपनी भांजी का स्टेट्स देखा वह घबरा गए। उन्होंने उसे फोन लगाया लेकिन किसी का फोन नहीं लगा। वह भागकर रात लगभग 10 बजे उनके घर पहुंचे लेकिन घर बंद था। काफी प्रयास के बाद भी जब घर के दरवाजे नहीं खुले तो पड़ोसियों के साथ मिलकर उन्होंने दरवाजा तोड़ दिया। घर के अंदर कमरे खाली पड़े थे। वह छत पर गए तो वहां तीनों की लाश लटक रही थी।

पहले बेटियों ने, फिर मां ने लगाई फांसी

पुट्टस्वामी ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने बताया कि प्रथम दृष्टया लग रहा है कि पहले महिला की बेटियों ने आत्महत्या की। उसके बाद राजेश्वरी ने फांसी लगाई है। राजेश्वरी के माता-पिता की तहरीर के आधार पर पुलिस ने आरोपी पति सिद्धैया के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने की धाराओं में केस दर्ज कर लिया है।

अवैध संबंधों को लेकर होते थे दंपती के बीच झगड़े

पुलिस ने बताया कि राजेश्वरी का पति सिद्धैया ग्रुप डी का कर्मचारी है। सिद्धैया दो दिन पहले तमिलनाडु गया था। उसका कथित तौर पर एक महिला के साथ संबंध है और इस मुद्दे पर पति-पत्‍नी के बीच लड़ाई होती थी। डीसीपी (दक्षिण) रोहिणी कटोच-सीपत ने कहा कि वे सिद्धैया की तलाश कर रहे हैं। वहीं, पुट्टस्वामी ने कहा कि चामराजनगर के राजेश्वरी ने 19 साल पहले सिद्धैया से शादी की थी। कुछ साल बाद, सिद्धैया ने अपने परिवार की उपेक्षा करना शुरू कर दी। इस बात को लेकर दोनों के बीच झगड़े होते थे। पांच साल पहले दोनों अलग हो गए। बड़ों के हस्तक्षेप के बाद सिद्धैया ने सुधरने का वादा किया और उसके बाद राजेश्वरी बेटियों के साथ उसके पास आकर फिर रहने लगी थीं।