CRPF कैंप पर कब्जा जमाये रखने के मकसद से आए थे आतंकी- राजनाथ

नई दिल्ली (5 जून): जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा के CRPF कैंप पर हुए हमले को सुरक्षाकर्मियों ने न सिर्फ विफल कर दिया बल्कि महज 45 मिनट में चारों आतंकियों को मौके पर ही ढ़ेर कर दिया। तलाशी अभियान के दौरान सुरक्षाकर्मियों ने मौके से भारी तादाद में असलाह और गोला बारूद जब्त किया है। इतना ही नहीं सुरक्षा कर्मियों ने आतंकियों के पास से पेट्रोल बम और सूखे मेवे समेत खाने के कई सामान जब्त किए हैं। जब्त किए गए समानों से पता चलता है कि आतंकी CRPF कैंप पर कब्जा जमाये रखने के मकसद से आए थे।


गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आतंकियों के नापाक मंसूबों को विफल करने के लिए मौके पर मुस्तैद जवानों की सराहना कि है। उन्होंने कहा कि आतंकवादियों का मकसद लंबे समय तक कब्जा बनाये रखने और भारी नुकसान पहुंचाने का था। उन्होंने कहा कि आतंकवादी स्वचालित राइफलों, ग्रेनेड जैसे भारी हथियारों से लैस थे और उन्हें पेट्रोल एवं सूखे मेवे जैसी अन्य सामग्रियां ले रखी थीं। इससे पता चलता है कि आतंकवादियों की मंशा लंबे समय तक कब्जा जमाये रखने एवं व्यापक नुकसान पहुंचाने की थी।


बताया जा रहा है कि आतंकी उरी हमले की तरह की इसकी योजना बना रहे थे। वे आग लगाने की तैयारी में थे. इसके लिए साम्रगी ला रहे थे, जिसमें 3 पेट्रोल बम शामिल थे। स्रोतों का कहना है कि आतंकवादी शिविर को जलाने की योजना बना रहे थे। फिदायीन की योजना के अनुसार शिविर के अंदर पहुंचने और मुठभेड़ को आगे बढ़ाने के लिए पर ध्यान देना था। इस हमले में 4 एके 47 राइफलों, एक यूबीजीएल के साथ, एक दर्जन से अधिक ग्रेनेड और भारी मात्रा में गोला-बारूद शामिल थे।