श्रीराम सेने प्रमुख प्रमोद मुतालिक को सुप्रीम कोर्ट से नहीं मिली राहत

नई दिल्ली (21 मई): श्रीराम सेने प्रमुख प्रमोद मुतालिक सुप्रीम कोर्ट से राहत नहीं मिली है। प्रमोद मुतालिक की याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें राहत नहीं दी है। प्रमोद मुतालिक ने अपनी याचिका के जरिए मुतालिक ने गोवा में प्रवेश की इजाजत मांगी, लेकिन उन्हें राहत नहीं मिली। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सितंबर 2017 के बाद के प्रतिबंधित आदेशों को रिकार्ड पर रखकर अर्जी दाखिल करें।

कोर्ट अगस्त के पहले हफ्ते में सुनवाई करेगा। प्रमोद मुतालिक का कहना है कि बंगलूरू के पब में हंगामा करने के मामले में अदालत उन्हें बरी कर चुकी है। मुतालिक ने कहा है कि गोवा में उनके इस्टदेव का मंदिर भी है, लेकिन गोवा में प्रवेश पर रोक है। हालांकि पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने सरकारी आदेश पर अंतरिम रोक लगाने से इंकार कर दिया था। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट गोवा में प्रवेश करने से रोकने के बंबई हाई कोर्ट के आदेश को चुनौती देने वाली मुतालिक की याचिका को ख़ारिज कर चुका है।