टूट सकता है पाकिस्तान, बलूचिस्तान में अत्याचार पर लगेगी पाबंदी

नई दिल्ली (23 सितंबर): यूरोपियन संघ ने आज पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए बलूचिस्तान में अत्यार पर लगाम लगाने को कड़ी चेतावनी दी है। इसी के साथ यूएन में पाकिस्तान का भारत को कश्मीर के मुद्दे पर घेरने का शो पूरी तरह से फ्लॉप हो गया।

वहीं दूसरी तरह बलूच नेता बह्मदाग बुगती ने भारत सरकार को जो शरण पत्र भेजा था, उसको लेकर पाकिस्तान तिलमिला उठा है। पाकिस्तान के रक्षा मंत्री आसिफ ख्‍वाजा ने भारत को गीदड़ भभकी देते हुए कहा है कि अगर भारत बुगती को शरण देता हैं तो वह एक आतंकी को शरण देना का काम करेगा।

पाकिस्तान को दो दिन में दो बड़े झटके लगे ह‍ैं, जिससे वह पूरी तरह से बौखला गया है। यूरोपियन संघ के तमाचे के बाद बुगती को लेकर उसने जो बयान भारत को लेकर दिया है, इससे एक बात पूरी तरह से साफ है कि वह अंदर ही अंदर डरा हुआ है कि अगर बुगती को भारत में शरण मिल जाती है तो बलूचिस्तान हर हाल में पाकिस्तान से अगल होकर रहेगा।

पाकिस्तान की सबसे बड़ी चिंता की वजह यह भी है कि अगर बलूचिस्तान उसके हाथ से गया तो चीन से उसकी दोस्ती भी खटाई में पड़ सकती है। इसी के साथ वहां से होने वाली खनिज उत्पादन के कारण उसे जो कमाई हो रही है, उसपर भी लगाम लग जाएगी।