बलूच लोगों ने तिरंगा लहराया, लगाए मोदी के समर्थन में नारे

नई दिल्ली (27 अगस्त): दुनिया के दूसरे देशों में रहने वाले बलूचिस्तान प्रांत के लोगों ने पाक के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इसी के साथ इन लोगों ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस मामले में हस्तकक्षेप करने की मांग की है।

ताजा मामला जर्मनी के लिपजिग शहर से आया है। यहां पर बलूच लोगों ने राष्ट्रवादी नेता अकबर बुगती की 10वीं पुण्यतिथि पर पाकिस्तान के खिलाफ नारे लगाते हुए, उसे आतंकवाद को प्रोत्साहित करने वाला देश करार दिया। इसके साथ ही प्रदर्शनकारियों ने भारत से समर्थन की मांग करते हुए 'नरेंद्र मोदी आगे बढ़ो' के नारे लगाए। प्रदर्शनकारियों ने 'तुम कितने (अकबर) बुगती मारोगे, हर घर से बुगती निकलेगा' जैसे नारे भी लगाए।

अकबर बुगती के पोते ब्रहुमदाग बुगती के समर्थन में प्रदर्शनकारियों ने 'कदम बढ़ाओ ब्रहुमदाग बुगती, हम तुम्हारे साथ हैं' का नारा लगाया। बलूच विद्रोहियों के हाथों में बलूचिस्तान का झंडे के अलावा भारत का तिरंगा भी था। विद्रोहियों ने बलूचिस्तान में पाकिस्तान के उत्पीड़न का मुद्दा उठाते हुए विश्व समुदाय से मदद किए जाने की मांग की।

स्विटजरलैंड में रह रहे बुगती ने संयुक्त राष्ट्र की देखरेख में बलूच लोगों के बीच जनमत संग्रह कराने की मांग करते हुए कहा, 'पाकिस्तान सुरक्षा बल मानवाधिकारों के बेइंतहा उल्लंघनों में शामिल रहे हैं। हम लोग किसी भी हाल में पाकिस्तान के साथ अब और नहीं रहना चाहते।' उन्होंने कहा कि वह पाकिस्तान सरकार के साथ वार्ता के लिए तैयार हैं, फ्रांस के क्षेत्रफल के बराबर बलूचिस्तान पाकिस्तान का सबसे बड़ा सूबा है जिस पर पिछले सात दशक से पाकिस्तान का अवैध कब्जा है।