बेटी की शादी के लिए नहीं मिले पैसे, हार्ट अटैक से पिता की मौत


बलिया (18 नवंबर): 500 और 1000 के नोटों पर पाबंदी के देशभर में कैश के लिए कोहराम मचा है। भारी तादाद में लोग बैंक, एटीएम और पोस्ट ऑफिस के बाहर लाइन में खड़े नजर आ रहे हैं। नोटबंदी को लेकर पूरे देश में हड़कंप मचा हुआ है। इसकी वजह से लोगों को काफी परेशानी हो रही है। इतना ही नहीं नोटबंदी की वजह से कई शादियों के घर में मातम तक हो गया है। 


यूपी के बलिया में पूरे दिन बैंक की लाइन में खड़ा रहने के बावजूद जब पैसा नहीं मिला तो एक व्यक्ति की मौत हो गई। दिल्ली में नौकरी करने वाले 45 साल के सुरेश सोनार के बेटी की तिलक की रस्म बुधवार को थी। तिलकर की खरीददारी के लिए मंगलवार को सुरेश नोट बदलवाने के लिए यहां स्टेट बैंक की शाखा में पहुंचे। पूरे दिन लाइन में खड़ा होने के बाद भी उनका पैसा एक्सचेंज नहीं हुआ। मायूस होकर सरेश देर शाम वह घर पहुंचे और इसी चिंता में रात 12 बजे हार्ट अटैक से मौत हो गई।

इससे पूरे परिवार पर गमों का पहाड़ टूट पड़ा। सुरेश के संगे संबंधियों और ग्रामीणों ने बुधवार सुबह उनका अंतिम संस्कार किया। और वहां मौजूद तमाम लोगों फैसला लिया की बोटी की सगाई की रश्म को नहीं टाली जाएगी। मातम के बीच शाम को बेटी के तिलक की रस्म पूरी की गई। लड़के वालों के साथ राय शुमारी के बाद तय हुआ कि निश्चित समय पर ही 21 नवंबर को बेटी की शादी भी होगी।