'लिमका बुक ऑफ रेकॉर्ड्स' में दर्ज 'बालिका वधू' का नाम

नई दिल्ली (31 मई): भारतीय टेलीविजन के लोकप्रिय सीरियल 'बालिका वधू' ने सबसे लम्बे समय तक चलने वाले हिंदी काल्पनिक सीरियल के तौर पर 'लिमका बुक ऑफ रेकॉर्ड्स' में अपना नाम दर्ज करा लिया है। इस सीरियल ने अपने 2,000 से भी ज्यादा एपिसोड पूरे कर लिए हैं।

यह सीरियल 'बाल विवाह' की सामाजिक कुरीति के मुद्दे को उठाने के साथ शुरू हुआ था। जिसमें एक नाबालिग दुल्हन 'आनंदी' के जीवन को दर्शाया गया। उसकी शादी जगदीश के साथ होती है। आनंदी की जिंदगी में शादी के बाद एक रूढ़िवादी परिवार में जाकर किस तरह से उतार चढ़ाव आते हैं। इसके बाद इस सामाजिक कुप्रथा के खिलाफ उसका संघर्ष ही सीरियल की कहानी का सारांश है।

कलर्स चैनल की प्रोग्रामिंग हेड मनीषा शर्मा ने एक बयान में कहा, "सीरियल के सार्थक विषयवस्तु, प्यारी कहानी और प्रेरणादायक पात्रों ने दर्शकों पर काफी गहरा असर डाला। शो ने लिमका बुक ऑफ रेकॉर्ड्स में दर्ज होने के साथ ही ब्रैंड ने नया मुकाम हासिल किया है। हम दर्शकों के कभी ना खत्म होने वाले समर्थन के लिए शुक्रिया अदा करते हैं। जिसकी वजह से बालिका वधू ने इंडस्ट्री में एक अलग पहचान बनाई है।" 

स्फेयर ऑरिजिन्स के चीफ मैनेजिंग डायरेक्टर संजॉय वाढ़वा ने बताया, "हम काफी खुशी और सम्मानित महसूस करते हैं कि बालिका वधू ने सबसे ज्यादा समय तक चलने वाले सीरियल का रेकॉर्ड बनाया है। इसे लिमका बुक ऑफ रेकॉर्ड्स में शामिल किया गया है।"