बालाकोट स्ट्राइक से घुटने पर आया पाकिस्तान, आतंकवाद पर अमेरिका से कही ये बात

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (12 मार्च): दुनिया भर के आतंकियों से लिए सुरक्षित पनाहगार बन चुके पाकिस्तान की पोल पूरी दुनिया के सामने खुल चुकी है। पुलवामा हमले के बाद भारत के तल्ख तेवर को दुनिया ने देखा और अब दुनिया के तमाम देश पाकिस्तान पर इस बात के लिए दवाब डालने में जुटे हैं कि वो अपने यहां पल रहे आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई करे। पुलवामा हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच जारी तनातनी के बीच अमेरिका ने भी पाकिस्तान को अपनी घरती से आतंकियों के सफाए के लिए चेतावनी दी है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने कहा है कि पाकिस्तान ने वादा किया है कि वह भारत में हमले करने वाले आतंकियों पर शिकंजा कसेगा। बॉल्टन ने ट्वीट किया है कि उन्होंने पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी से बातचीत की है और पाकिस्तान ने भरोसा दिया है कि वह आतंकियों के साथ मजबूती से निपटेगा और भारत के साथ तनाव कम करने के लिए कदम बढ़ाएगा।

अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने अपने ट्वीट में लिखा है कि, 'पाकिस्तान के विदेश मंत्री कुरैशी ने जैश-ए-मोहम्मद और अन्य सक्रिय आतंकवादी संगठनों के खिलाफ ठोस कदम उठाने पर बातचीत की। पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने मुझे आश्वासन दिया है कि पाकिस्तान सभी आतंकवादी संगठनों से दृढ़ता से निपटेगा और भारत के साथ तनाव कम करने की दिशा में भी प्रयास जारी रखेगा।'

अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बोल्टन ने पाक विदेश मंत्री  कुरैशी से उस वक्त बात की है जब भारत के विदेश सचिव विजय गोखले अमेरिका की यात्रा पर हैं। गोखले ने अपनी आधिकारिक यात्रा के पहले दिन अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ से मुलाकात की। बैठक पर अमेरिकी विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया कि अमेरिका, पाकिस्तान पर दबाव बनाना जारी रखेगा। विदेश मंत्रालय के उप प्रवक्ता रॉबर्ट पालाडिनो ने कहा कि, 'विदेश मंत्री पोम्पिओ और भारत के विदेश सचिव गोखले ने पुलवामा हमले के दोषियों को न्याय के कठघरे में लाने के महत्व और पाकिस्तान के उसकी जमीन पर सक्रिय आतंकवादी संगठनों के खिलाफ ठोस कदम उठाने की अनिवार्यता पर चर्चा की।'  उन्होंने कहा कि पोम्पिओ ने आश्वासन दिया कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अमेरिका भारतीयों और भारत सरकार के साथ खड़ा है।