बालाजी को चढ़ाया गया 1000 करोड़ कैश, 201 करोड़ मिले ऑनलाइन

तिरुपति (8 जनवरी): भगवान वेंकटेश्वर के तीर्थस्थल तिरुमाला मंदिर की हुंडी में 2016 में 1,018 करोड़ रुपए कैश चढ़ावा आया है। मंदिर में स्पेशल दर्शन के लिए होने वाली टिकटों की ऑनलाइन बिक्री से भी 201 करोड़ रुपए से ज्यादा की इनकम हुई है।

2.6 करोड़ भक्त पहुंचे मंदिर...

- टीटीडी के एक्जीक्यूटिव ऑफिसर डी. संबाशिवा राव ने बताया कि तिरुमाला बालाजी मंदिर में 2016 में 2.6 करोड़ भक्त पहुंचे।

- राव ने बताया कि हुंडी में कैश के अलावा सोना और दूसरी कीमती मेटल्स के सामान भी मिले हैं।

- सालभर में मंदिर में 10 करोड़ लड्डू बांटे गए। इन्हें मंदिर में ही बनाया जाता है।

67 लाख भक्तों ने लिए ऑनलाइन टिकट...

- राव ने बताया कि 2016 में बालाजी मंदिर में दर्शन के लिए 67 लाख 12 हजार भक्तों ने ऑनलाइन टिकट लिए।

- मंदिर में स्पेशल एंट्री के लिए यह टिकट 300 रुपए में दिया जाता है।

- इस तरह मंदिर की हुंडी में 201 करोड़ रुपए की और बढ़ोतरी हुई है।

देश का दूसरा सबसे धनी मंदिर है तिरुपति...

- बता दें कि तिरुपति बालाजी को देश का दूसरा सबसे धनी मंदिर माना जाता है।

- इसकी इनकम का सबसे बड़ा सोर्स इसकी हुंडी ही होती है। इसमें बड़ी मात्रा में गुप्त दान आता है।

- हुंडी के अलावा मंदिर को टिकट, प्रसाद, ब्याज और जमीन की रजिस्ट्रियां भी मिलती हैं।

- देश में दौलत के मामले में पहले नंबर पर पद्मनाथ स्वामी मंदिर है। अनुमान है कि इसकी कुल संपत्ति 1 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा है।

7 टन सोना, 30 टन चांदी है मंदिर के खजाने में...

- बताया जाता है कि मंदिर के खजाने में 7 टन से ज्यादा सोना और 30 टन से ज्यादा चांदी जमा है।

- इसमें हीरे, मोती, माणिक समेत करीब 1 टन वजन के बेशकीमती पत्थर भी हैं।

- बालाजी मंदिर का डीमैट अकाउंट भी है।