बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने थाने में घुसकर पुलिसवालों को पीटा

भूपेंद्र शर्मा, आगरा (23 अप्रैल): उत्तर प्रदेश में बीजेपी ने रिकॉर्डतोड़ बहुमत से सरकार बनाई है। सीएम योगी आदित्यनाथ लगातार पार्टी कार्यकर्ताओं से संयम बरतने की अपील कर रहे हैं, लेकिन कुछ हिन्दूवादी संगठनों के गुंडे इन सारी नसीहतों को ठेंगे पर ऱख रहे हैं। कल ही नए डीजीपी सुलखान सिंह ने कुर्सी संभाली। गुंडों पर कार्रवाई के दावे किए और कल ही उनकी पुलिस पर ही कुछ संगठनों ने हमला कर दिया। थप्पड बरसाए, गाड़ियां जला दीं और थाने पर हमला कर दिया।


यूपी के आगरा में थाना फतेहपुर सीकरी में अचानक बजरंग दल समेत कुछ हिंदूवादी संगठन ने धावा बोल दिया और जमकर हंगामा किया। बताया जा रहा है कि थाने में हिंदुवादी संगठन के पांच आरोपियों को लाया गया था, जिसके बाद आरोपियों को छुड़ाने के लिए थाने में अचानक भीड़ जमा हो गई और नारेबाजी करने लगी। जब पुलिस ने इन लोगों को समझाने की कोशिश की तो इनकी पुलिस से झड़प हो गई। फिर ये लोग गुंडागर्दी पर उतर गए। इन लोगों ने थाने में ही नारेबाजी शुरू कर दी और थाने के अंदर घुस गए। फिर जिस हवालात में आरोपी बंद थे इन गुंडो ने उस हवालात का ताला तोड़ने की कोशिश की।


इसके बाद ये गुंडे बेलगाम हो गए। इन लोगों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। थाने के बाहर खड़ी एक बाइक को आग लगा दी। कई गाड़ियों में तोड़फोड़ कर दी। यहां तक कि ड्यूटी से घर जा रहे एक एक पुलिसकर्मी के साथ बेरहमी से मारपीट की। हालात को काबू में करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा।


एक दिन पहले ही कार्यभार संभालते हुए यूपी के नए डीजीपी सुलखान सिंह ने ऐसे गुंडो को चेतावनी दी थी, उसके बावजूद ये गुंडे बेलगाम हैं। पुलिस के मुताबिक सरेआम गुंडागर्दी करने वाले इन गुंडों की पहचान हो चुकी है और जल्द ही उनके खिलाफ कार्यवाई की जाएगी। साफ है इस तरह के गुंडे योगी सरकार के लिए चुनौती बन गए हैं। कई बार मुख्यमंत्री गुंडों को खुली चेतावनी दे चुके हैं। खुद सूबे के नए डीजीपी भी गुंडों की लगाम कसने की बात कह चुके हैं, लेकिन इनपर कोई असर पड़ता नहीं दिखाई दे रहा है।