बाबरी विध्वंस की 25वीं सालगिरह पर 2 लाख 'धर्मयोद्धा' उतारेगी VHP

नई दिल्ली(16 सितंबर): उत्तर प्रदेश में बजरंग दल के दो लाख से अधिक युवा कार्यकर्ता ‘धर्म योद्धा’ के रूप में तैयार हो जाएंगे। इस साल छह दिसबंर को बाबरी मस्जिद विध्वंस की 25वीं सालगिरह पर ‘त्रिशूल दीक्षा’ के दिन इनके तैयार होने की बात कही गई है। 

- पश्चिमी यूपी में विश्व हिंदू परिषद ‘धर्म प्रसार’ के सचिव राकेश त्यागी ने बताया, ‘ये योद्धा हिंदू धर्म की रक्षा करेंगे। अगर कोई मंदिर ध्वस्त करने की कोशिश करेगा, हिंदू धर्म पर हमला करेगा।, गाय को मारेगा, लव जिहाद करेगा तो ये योद्धा उनसे निपटेंगे।’ ये सुनिश्चित करते हुए कि त्रिशूल भगवान शिव के विश्वास और शक्ति का प्रतीक है, विश्व हिंदू परिषद के संयुक्त महासचिव सुरेंद्र जैन ने कहा कि ‘त्रिशूल दीक्षा’ देशभर में होती है।

- हालांकि ये राज्य की इकाइयों के लिए छोड़ दिया जाता है कि वो क्या करना चाहते हैं। इस दौरान उन्होंने साफ किया कि हमारा संदेश ये है कि हिंदू किसी भी तरह की आक्रमकता को बर्दाश्त नहीं करेंगे। वहीं राकेश त्यागी ने कहा, ‘त्रिशूल्स को हथियारों के रूप में वर्गीकृत नहीं किया जा सकता। हालांकि इनका इस्तेमाल हिंदू धर्म की रक्षा के लिए किया जा सकता है। अब हिंदू धर्म के युवाओं के लिए वक्त आ गया है कि वो आगे आकर अपने धर्म की रक्षा करें।’

- दूसरी तरफ बजरंग दल के राष्ट्रीय संयोजक मनोज वर्मा कहते हैं कि कुछ इकाइंया 19 नवंबर से 6 दिसंबर तक सदस्यता भर्ती अभियान पूरा करने के बाद त्रिशूल दीक्षा कार्यक्रम का आयोजन कर रही हैं। संगठन की योजना सिर्फ यूपी में पांच लाख युवाओं के इसमें शामिल करने की है।