बकरीद से पहले कुर्बान होगा बाहुबली!

नई दिल्ली(12 सितंबर): 1,800 किलो वजन के बाहुबली को शायद बकरीद से पहले ही काट दिया जाएगा। बाहुबली मुर्रा नस्ल का एक भैंस है। अगर सोमवार तक बाहुबली की उम्मीद के मुताबिक कीमत नहीं मिलती, तो बकरीद के पहले ही उसकी कुर्बानी दे दी जाएगी।

- उधर शहर में बाहुबली इतना बड़ा आकर्षण बन गया है कि लोग इस बेहद हट्टे-कट्टे भैंस की बस एक झलक देखने को बेकरार हैं।

- बाहुबली को मुहम्मद तौफीक कुरैशी और नदीम ने 11 लाख की भारी-भरकम कीमत देकर हरियाणा से खरीदा। अब वह इस भैंस को मुनाफे के साथ ऊंची कीमत पर बेचना चाहते हैं, लेकिन इतनी बड़ी कीमत देने वाला ग्राहक ही नहीं मिल रहा है।

-तौशिफ बताते हैं, 'हर दिन यह भैंस 20 किलो दूध पीता है और 20 किलो सेब खाता है। इसके अलावा वह जानवरों को दिया जाने वाला चारा भी खाता है। हमने उसे सोने के लिए एक गद्दा भी दिया है। जिस दिन से हमने उसे खरीदा है, तब से ही हल्द्वानी, रामपुर, बिलासपुर, चंदौसी और बाकी आसपास के इलाकों के लोग इसे देखने के लिए यहां आ रहे हैं।' 

- तौशिफ ने बताया कि अगर सोमवार तक बाहुबली की सही कीमत उन्हें नहीं मिलती, तो वह खुद ही इसकी कुर्बानी दे देंगे। वह बताते हैं, '2 दिन हो गए बाहुबली को बाजार में आए और इसे देखने के लिए लोगों का तांता लगा हुआ है। लोग आते हैं, इसे प्यार करते हैं और इसके साथ सेल्फी लेते हैं।' बाहुबली को एक अलग कमरे में रखा गया है। उसे गर्मी से बचाने के लिए कमरे में 2 कूलर और एक पंखा भी लगाया गया है। देशभर में 13 सितंबर को बकरीद मनाई जाएगी।