पाक ने फिर की नापाक हरकत, भारतीय अधिकारियों के साथ किया बुरा बर्ताव

Image Source: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 दिसंबर): भारत कितना भी पाकिस्तान के साथ दोस्ती का हाथ बढ़ाता रहे लेकिन पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज आता दिखाई नहीं दे रहा है। लाख समझाने के बावजूद वह लगातार भारत के खिलाफ कोई न कोई साजिश रचता ही रहता है। अब खबर आ रही है कि इस्लामाबाद में मौजूदा भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों के साथ पाक ने गलत व्यवहार किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारतीय उच्चायोग में अधिकारियों को मुहैया कराए गए नए कैंपस में न तो गैस कनेक्शन है और न ही इंटरनेट की सुविधा दी गई है। यानी कि एक तरीके से भारतीय अधिकारियों को परेशान करने के लिए पाक ये घटिया तरीका अपना रहा है। इस पूरे मामले को लेकर भारत सरकार ने पड़ोसी देश में हो रहे गलत व्यवहार को लेकर विरोध व्यक्त किया है।

भारत ने दर्ज कराई शिकायतगुरुवार को भारत सरकार ने इस बावत पाक के विदेश मंत्रालय में शिकायत दर्ज कराई है। पाकिस्तान किस हद तक गिर सकता है इसका अदंजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उच्चायोग के कार्यक्रम के दौरान लाईट काट दी गई थी और सारी हदें तो तब पार हो गई जब कई बार फोन लाइन को भी काट दिया जा रहा है। भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों के साथ पाक का नापाक बर्ताव यहीं नहीं रूका। एक अधिकारी के घर पर तोड़फोड़ भी की गई और उनके घर में जबरदस्ती घुसने की कोशिश की गई। इसके साथ ही भारतीय उच्चायोग के वेबसाइट और इंटरनेट को भी ब्लॉक या स्लो कर दिया जा रहा है, ताकि वीजा के लिए अप्लाई कर रहे पाकिस्तानियों को दिक्कत हो और वह प्रॉक्सी सर्वर का इस्तेमाल करें।

पाक पहले भी कर चुका है ऐसी हरकतें

यहां पर समझने वाली बात ये है कि ये कोई पहली बार नहीं है जब पाकिस्तान इस इस तरह की खबरें आ रही हैं। इससे पहले भी पाकिस्तान अपनी असली जाति दिखाता रहा है। आपको याद होगा कि इसी साल 15 मार्च को विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहना पड़ा था कि हम चाहते हैं कि इस्लामाबाद में मौजूद भारतीय हाई कमीशन अच्छे से काम करे। हमारे अधिकारियों पर वहां जुर्म न ढाए जाएं। भारत सरकार ने अब तक कई बार पाकिस्तान से रिश्तों में सुधार को लेकर बात करने की कोशिश की लेकिन पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज आता नहीं दिखाई देता है। हलांकि पाक के नए पीएम इमरान खान ने बाब साहिब करतार पुर शिलन्यास के दौरान जरुर कहा था कि हम भारत से अच्छे रिश्ते करना चाहते हैं। पाक की इस तरीके के हरकत से साफ तौर से अंदाजा लगाया जा सकता है कि पाक की कथनी और करनी में कितना अंतर है।