बमबारी में मलबे के नीचे दबी 30 दिन की बच्ची, निकालने वाला भी उसकी हालत देखकर रो पड़ा

सीरिया (1 अक्टूबर): सीरिया से एक ऐसी खबर सामने आई है, जिसे जानने के बाद आपकी भी आंखें नम हो जाएंगी। यहां पर बमबारी के कारण मलबे में दबी 30 दिन की बच्ची को बचाने वाला भी उसकी हालत देखकर खुद फूट-फूटकर रो दिया।

दरअसल, गुरुवार को रूस की बमबारी की वजह से इदलिब और अलेप्पो शहर की इमारतें ढह गई थीं। बमबारी रुकते ही रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू हुआ। अबू किफा ने इदलिब में रेस्क्यू कर रहे थे। उन्होंने देखा कि मलबे में दबी एक बच्ची की सांसें चल रही हैं। खुशी के मारे वो चीखा या अल्लाह, उसके आंसू बह निकले। उसने बच्ची को बाहों में भर लिया।

खुशियां भर देती हैं बेटियां... - जब तक एंबुलेस ने उन्हें हॉस्पिटल नहीं पहुंचा दिया वह बच्ची को ऐसे ही संभाले रहा। - उसने मीडिया को बताया ‘भले वो मेरी बेटी नहीं थी, पर मुझे उसके बचने की खुशी है। - उसने कहा- बेटियां तो ऐसी ही होती हैं, जिस गोद में जाती हैं, खुशियां भर देती हैं। - वहीं, अलेप्पो की बिल्डिंग से बचाए गए एक बच्चे ने नर्स को मां की तरह पकड़ लिया। - हमले में उसका घर गिर गया था, जिससे वो बेहद डर गया था।