फर्श पर खेल रही बच्ची के सामने आ गया कोबरा फिर...

नई दिल्ली (25 जुलाई): एक कहवत है जाको राखे सांइया मार सके न कोई...यही कहावत गुजरात की राजुला तहसील के वावेरा गांव में रहने वाले हिम्मतभाई ओधडभाई कामणीयाना के साथ हुई। उनके घर के बरामदे के फर्श पर उनकी डेढ़ वर्षीय बेटी खेल रही थी। 

 इसी दौरान अचानक घर में एक कोबरा आ पहुंचा। बच्ची  और कोबरा एक दूसरे की ओर बढ़ रहे थे कि रही थी कि तभी हिम्मतभाई तथा बाकी लोगों ने  देख लिया, मगर किसी की भी हिम्मक पास जाने की नहीं हो रही थी। तभी उन्होंने सांप पकड़ने वाले और गांव में ही रहने वाले अशोक भाई सांखट को इसकी सूचना दी। सांखट खबर मिलते ही हिम्मत भाई के घर पहुंच गए। उन्होंने पहले बच्ची को वहां से हटाया। इसके बाद कोबरा को पकड़कर जंगल में छोड़ दिया।