बाबरी केस: आडवाणी, जोशी और उमा को रोज पेशी से छूट

लखनऊ (7 जून): बाबरी ढांचा गिराये जाने के मामले में लखनऊ CBI की विशेष अदालत से बीजेपी नेता लाकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती को बड़ी राहत मिली है। कोर्ट ने तीनों नेताओं को रोज होने वाली पेशी से छूट दे दी है। इस राहत के बाद अब ये नेता कोर्ट में रोज होने वाली पेशी में उपस्थित नहीं होंगे।


आपको बता दें, बाबरी ढांचा ढहाये जाने के मामले में बीजेपी नेता लाल कृष्‍ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, विनय कटियार, महंत राम विलास वेदांती, चंपत राय समेत 12 लोगों CBI की विशेष अदालत में पेश हुए थे। अदालत ने सभी आरोपी नेताओं के खिलाफ मुकदमा चलाने के आदेश दे दिए थे। इस मामले में सभी 12 आरोपियों के खिलाफ धारा 120B (आपराधिक षडयंत्र), धारा 153 (दंगे के लिए उकसाना), धारा 153A (नफरत फैलाना), धारा 295 (धार्मिक स्‍थल को क्षति पहुंचाना), धारा 295A (धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाना), व धारा 505 के तहत मुकदमा चलेगा। मामले में 450 लोगों की गवाही होनी है।


अदालत ने 30 मई को BJP नेता आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती और 9 अन्य आरोपियों पर आपराधिक साजिश के आरोप तय किये थे। सभी आरोपियों को न्यायमूर्ति यादव ने 50-50 हजार रुपये के निजी मुचलके पर जमानत दे दी थी।