रामदेव पाकिस्तान में लगाना चाहते हैं योग शिविर

नई दिल्ली ( 20 अक्टूबर ) : योग गुरु बाबा रामदेव अपने बयानों को लेकर हमेशा सुर्खेयिों में रहते हैं।  बाबा रामदेव हर मुद्दे अपनी बात खुलकर रखते हैं। रामदेव ने भारतीयों से मेड इन चाइना प्रोडक्ट्स का बहिष्कार करने की अपील की है। रामदेव का कहना है कि चीन अपना सामान बेचकर भारत से पैसा कमा रहा है और उससे पाकिस्तान की मदद कर रहा है। 

एक अंग्रेजी अखबार के कार्यक्रम में जब बाबा रामदेव से पूछा गया कि पाकिस्तानी कलाकारों को भारत में बैन करने पर उनकी राय क्या है तो उन्होंने सवाल के जवाब में काह कि कलाकार आतंकवादी नहीं होते हैं। लेकिन क्या इन लोगों में आत्मा है? ये लोग सिर्फ अपनी फिल्म के बारे में सोचते हैं, करोड़ों कमाते हैं और बिरयानी खाते हैं। ये लोग उरी और दूसरी जगहों पर हुए आतंकवादी हमलों में भारतीय सैनिकों की शहादत पर कुछ क्यों नहीं बोलते?'

पाकिस्तान में योगा कैंप के लिए तैयार' हालांकि रामदेव ने कहा कि उन्हें पाकिस्तान में योगा कैंप लगाने से गुरेज नहीं है, क्योंकि योगा भी एक कला है। उन्होंने कहा कि वे पाकिस्तान में पतंजलि यूनिट लगाने को भी तैयार हैं, लेकिन पाकिस्तानी आर्टिस्ट्स की तरह वे इससे मुनाफा नहीं कमाएंगे बल्कि जो कमाई होगी उसको पाकिस्तानी लोगों की भलाई के लिए काम करेंगे। 

सर्जिकल स्ट्राइक की तारीफ करते हुए रामदेव बोले कि दुष्टों का नाश करना हिंसा नहीं होती। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी को दाऊद इब्राहिम, मसूद अजहर और हाफिज सईद का भी खात्मा करना चाहिए। जब रामदेव से पूछा गया कि वे एनडीए सरकार के कामकाज से खुश हैं या नहीं तो उन्होंने जवाब दिया कि एक योगी कभी खुश या नाखुश नहीं होता। उन्हें लगता है कि नरेंद्र मोदी देश के सबसे सफल प्रधानमंत्री साबित होंगे।