स्वामी रामदेव का 2019 चुनाव पर बड़ा बयान, कहा- अभी नहीं कह सकते कौन होगा अगला पीएम


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (26 दिसंबर): 2019 चुनाव के ठीक पहले योगगुरु बाबा रामदेव के एक बयान ने सियासी खेमे में बदलाव की ओर इशारा कर दिया है। साल 2014 के लोकसभा चुनाव में खुलकर नरेंद्र मोदी का साथ देने वाले योग गुरु बाबा रामदेव के 2019 चुनाव से ठीक पहले दिए गए एक बयान ने सियासी खेमे में बदलाव की ओर इशारा कर दिया है। हर एक कार्यकम, हर मंच से प्रधानमंत्री मोदी के काम करने के अंदाज और उनकी नीतियों की तरफदारी करने वाले योग गुरु बाबा रामदेव को भी 2019 में सत्ता परिवर्तन का अंदेशा होने लगा है। शायद इसीलिए उन्होंने कहा कि 2019 का मैदान कौन जीतेगा, कुछ कहा नहीं जा सकता।


तमिलनाडु के मदुरई एयरपोर्ट पर पत्रकारों ने जब बाबा रामदेव से 2019 चुनाव के सिलसिले में सवाल किया तो वो साफ कहते नजर आए कि अभी देश में राजनीतिक रुप से बहुत संघर्ष है। मतलब ये कि देश की बागडोर किसके हाथ लगेगी, कुछ पता नहीं। इतना ही नहीं, बाबा रामदेव ने 2019 के लोकसभा चुनाव के समर्थन को लेकर भी अपना रुख साफ कर दिया है।  उन्होंने कहा कि, 'मैं ना किसी का समर्थन करता हूं ना विरोध।  हमारा उद्देश्‍य सांप्रदायिक या हिंदू भारत बनाना नहीं बल्कि हम एक आध्‍यात्मिक भारत का निर्माण करना चाहते हैं।'



इससे पहले बाबा रामदेव ने साफ कर दिया था कि वह 2019 में बीजेपी के लिए कैंपेनिंग नहीं करेंगे. उन्होंने कहा था कि 2019 के लोकसभा चुनावों में वो राजनीति से दूर रहेंगे। 2014 में उन्होंने खुलकर नरेंद्र मोदी का इसलिए साथ दिया था क्योंकि तब संकट का समय था जो अब नहीं है। इसलिए अब वो सर्वदलीय भी हैं और निर्दलीय भी। बाबा रामदेव ने कहा था कि मैं हमेशा राष्ट्र प्रथम के सिद्धांत पर कार्य करता हूं। मेरी राजनीतिक भूमिका यह सुनिश्चित करने के लिए सीमित है कि देश अच्छे लोगों द्वारा शासित है। मैंने खुद को राष्ट्र निर्माण, चरित्र निर्माण, शिक्षा, कृषि और स्वास्थ्य जैसे अन्य मुद्दों के लिए समर्पित किया है। इसलिए, मैं खुद को गैर-राजनीतिक, स्वतंत्र व्यक्ति के रूप में देखता हूं जो मां भारत की सेवा में है।  इस बयान के बाद तो ऐसा ही लगता है, कि बाबा रामदेव 2019 में बीजेपी के लिए कैंपेनिंग करने से परहेज करते नजर आएंगे। योगगुरु रामदेव का ये बयान बहुत से लोगों के लिए हैरान करने वाला है। क्योंकि वो बीजेपी और ख़ासकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पक्ष में अभियान चला चुके हैं।