जिन्‍ना विवाद पर बोले बाबा रामदेव- मुसलमान तो चित्रों में विश्‍वास नहीं रखते, उनको चिंता क्‍यों

नई दिल्ली (09 मई): अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में मो. अली जिन्ना की तस्वीर जिन्ना की तस्वीर से उपजे विवाद को लेकर अब योग गुरु बाबा रामदेव ने भी बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि मुस्लिम समुदाय के लोग तस्वीरों और मूर्तियों को तवज्जो नहीं देते इसलिए उन्हें जिन्ना की तस्वीर के लिए भी परेशान नहीं होना चाहिए। रामदेव बिहार के नालंदा में एक योग सेशन के बाद मीडिया से मुखातिब होने के दौरान यह कह रहे थे।

रामदेव ने कहा कि जिन्ना भारत की अखंडता और एकता के लिए आदर्श तो हो नहीं सकता है, पाकिस्तान के लिए शायद हो सकता है। दरअसल अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्रसंघ भवन में मो. अली जिन्ना की तस्वीर टंगे होने पर बीजेपी सांसद सतीश गौतम ने कुलपति को पत्र लिखकर हटाने की मांग की थी। जिसका छात्रसंघ पदाधिकारियों ने सड़क पर उतरकर विरोध किया। इस दौरान पुलिस को बलप्रयोग भी करना पड़ा। 

यह मामला बाद में राष्ट्रीय सुर्खियों में आ गया। 

बीजेपी सांसद का कहना है कि मो. अली जिन्ना के चलते ही भारत का बंटवारा हुआ, ऐसे में देश में किसी भी स्थान पर उनकी मूर्ति लगाने की इजाजत नहीं दी जा सकती। जिन्ना का स्थान भारत में नहीं हो सकता। जबकि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्रसंघ पदाधिकारियों का कहना है कि जिन्ना की यह तस्वीर आजादी के पहले की रही, जब उन्हें विश्वविद्यालय की ओर से आजीवन सदस्यता प्रदान की गई थी।