यादव परि'वार':आजम बोले- सुलह की कोशिश जारी, सभी दरवाजे बंद नहीं

नई दिल्ली(3 जनवरी):समाजवादी पार्टी में मचे घमासान और चुनाव चिन्ह 'साइकिल' को लेकर मुलायम और अखिलेश खेमा एक-दूसरे के आमने-सामने आ गए हैं। अखिलेश खेमे से रामगोपाल यादव 'साइकिल' चुनाव चिन्ह पर दावा पेश करने के लिए चुनाव आयोग के दफ्तर पहुंचे। बता दें कि मुलायम खेमा सोमवार को ही आयोग में अपना दावा पेश कर चुका है। इस बीच, पिता और पुत्र के बीच सुलह की भी कोशिशें की जारी हैं।

- सपा में जारी विवाद पर यूपी में मंत्री और पार्टी के वरिष्‍ठ नेता नेता आजम खान ने फिर से दोनों पक्षों के बीच सुलह पर जोर दिया है। उन्‍होंने आज दिल्‍ली में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि सुलह की उम्‍मीदें अभी खत्‍म नहीं हुई हैं। मैंने पहले भी सुलह की कोशिश की थी और आगे भी ये कोशिश जारी रहेगी। मैंने पहले भी सुलह की कोशिश की थी और उसमें कामयाबी मिली। 

- आजम खान ने कहा कि यदि जरूरत पड़ी तो मैं फिर कोशिश करूंगा। कुछ भी संभव है।  

- आजम ने यह भी कहा कि मुझे अपनी सीमाओं में रहना होगा। मेरी हैसियत बहुत छोटी है। उतने ही पैर फैलाने चाहिए जितनी चादर है। एसपी में विवाद पर ज्‍यादा जानकारी नहीं है। चुनाव निशान किसका होगा यह कहना अभी थोड़ा मुश्किल है। मुद्दा ये नहीं है कि बेवफा कोन है, बल्कि मुद्दा यह है कि यूपी में हमारी सरकार कैसे बने। मैं मैं दिल्‍ली क्‍यों आया, ये मेरा निजी मामला है।