जनाना कपड़े पहनकर भागने वाला सिर काटने की बात कह रहाः आजम

  लखनऊ (5 अप्रैल): भारत माता की जय बोलने को लेकर योग गुरु स्वामी रामदेव की ओर से दिए गए बयान की प्रदेश के नगर विकास मंत्री आजम खां ने कड़े शब्दों में निंदा की है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के रामलीला मैदान से जनाना कपड़े पहनकर भागने वाला व्यक्ति सिर काटने की बात कह रहा है।   मेलबर्न (आस्ट्रेलिया) से जारी बयान में आजम खां ने कहा कि अभी कुछ साल पहले ही तत्कालीन केंद्र सरकार बाबा रामदेव के काले कारनामों की जांच करा रही थी, उस वक्त उनका जीना मुहाल हो गया था। देवबंद की इस्लामिक कांफ्रेंस में इन्होंने कहा था कि मैं देवों की धरती पर देवों के बीच आया हूं।   इतने महान उलेमा की मौजूदगी में मैं कहना चाहता हूं कि हम एक ही मालिक की संतान हैं। उस वक्त देवबंद के उलेमा और इस्लाम की तारीफ करने वाले कौन से रामदेव थे? अब आरएसएस और भाजपा के एजेंट के रूप में देश का माहौल खराब करने की कोशिश करने वाले कौन से रामदेव हैं?   उन्होंने कहा कि स्वामी रामदेव को न सिर्फ माफी मांगनी चाहिए, बल्कि अपनी सजा खुद तय करनी चाहिए। आजम खां ने कहा कि मैं देश के सभी धर्मों और वर्ग के लोगों से अपील करना चाहता हूं कि वो ऐसे मौकापरस्त लोगों की बातों पर किसी तरह की प्रतिक्रिया व्यक्त न करें।   क्या कहा था बाबा रामदेव ने रोहतक में आयोजित सद्भावना सम्मेलन में योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा था कि कोई टोपी पहनकर खड़ा हो जाता है और कहता है कि भारत माता की जय नहीं बोलूंगा, चाहे तो मेरा सिर काट लिया जाए। हम कानून का सम्मान करते हैं, नहीं तो ऐसा बोलने वालों के सिर काट देते।