अयोध्या विवाद: सुन्नी वक्फ बोर्ड का यूटर्न, कहा- SC में सिब्बल के बयान से सहमत

नई दिल्ली ( 6 दिसंबर ): सुप्रीम कोर्ट में बाबरी मस्जिद-राम जन्मभूमि मामले की कपिल सिब्बल के सुनवाई टालने की मांग पर घमासान जारी है। मामले में विवाद बढ़ने के बाद पहले कांग्रेस पार्टी और फिर सुन्नी वक्फ बोर्ड ने कपिल सिब्बल से किनारा कर लिया। सुन्नी वक्फ बोर्ड ने मामले को लेकर कपिल सिब्बल को खरी खोंटी सुनाई। हालांकि बाद में सुन्नी वक्फ बोर्ड ने इससे यूटर्न ले लिया।

पहले सुन्नी वक्फ बोर्ड के हाजी महबूब ने कहा कि कपिल सिब्बल हमारे वकील हैं, लेकिन वो एक राजनीतिक पार्टी से जुड़े हुए हैं। मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर की सुनवाई टालने की सिब्बल की मांग गलत थी। हम मामले में जल्द से जल्द समाधान चाहते हैं।

हालांकि कुछ देर में वो अपने बयान से पलट गए। उन्होंने कहा, ''अगर बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी के कंवेनर जफरयाब जिलानी कपिल सिब्बल के बयान को सही ठहराते हैं, तो मैं उनसे सहमत हूं।'' 

इस मामले में जफरयाब जिलानी का कहना है कि यह सब मीडिया का बनाया हुआ है। मीडिया बीजेपी की ही बात करती है। हम कपिल सिब्बल की बातों से सहमत हैं। कपिल सिब्बल ने हमसे बात करने के बाद ये मांग की और यह सच भी है कि मामले का राजनीतिक फायदा उठाने की कोशिश हो रही है। प्रधानमंत्री गुजरात मे कपिल सिब्बल के बयान की बात कर रहे हैं।